संस, हाथरस : बारावफात का पर्व मंगलवार को मनाया जाएगा। ईद मीलाद-उन-नबी यानी बारावफात मुस्लिमों के लिए बहुत महत्व रखता है। कोरोना महामारी के चलते यह त्योहार इस बार घरों में ही मनाया जाएगा। बड़े आयोजन नहीं किए जाएंगे।

ईद मीलादुन्नवी का पर्व सोमवार को उल्लास के साथ मनाया जाएगा। इसके लिए मुस्लिम परिवारों ने कई दिन पहले से तैयारी शुरू कर दी थी। बाजारों में खरीदारी भी की गई। यह त्योहार इस्लाम के इतिहास में सबसे अहम माना जाता है। मुहम्मद साहब का जन्म इसी दिन हुआ था। इसीलिए इसे मुस्लिम परिवार हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। मस्जिदों के साथ घरों को सजाने-संवारने के कार्य कई दिन से किए जा रहे थे। मुस्लिम इंतजामिया कमेटी के सदर हाजी रिजवान कुरैशी ने बताया कि महामारी के चलते इस बार पर्व पर कोई सामूहिक आयोजन नहीं किया जाएगा। यह पर्व घरों में ही मनाया जाएगा। सीरत कमेटी के सदर बने नवेद

संसू, सिकंदराराऊ : मस्जिद मार्केट में बारावफात के मौके पर सीरत कमेटी की बैठक जनाब जफर अली फारूकी के सदरात में हुई। संचालन उबेश अहमद कुरैशी ने किया। बैठक में सर्वसम्मति से नवेद अहमद खां को कमेटी का सदर व अखलाक भारती को सचिव, मुजम्मिल कुरैशी एवं मोहम्मद जाहिद कुरैशी को कोषाध्यक्ष, फैजान भारती को मीडिया प्रभारी चुना गया। इसमें उवेश कुरैशी, रफीक राईन, माशा अल्लाह ,मुन्ना चीनी वाले, आबिद कुरैशी छोटे कुरैशी, हरीश कुरैशी मौजूद थे । आज होगी बैठक

बारावफात पर कस्बा के मोहल्ला सराय उम्दा बेगम में मंगलवार सुबह 10 बजे बैठक का आयोजन किया जाएगा। समाजसेवी जाफर अली फारूकी ने बैठक में सहभागिता करने की अपील मुस्लिम भाइयों से की है।

Edited By: Jagran