सब हेड

विशेष सचिव ने बीईओ को निलंबन और कार्यवाही के लिए शिक्षा निदेशक को लिखा पत्र

क्रॉसर-

बीएसए की आख्या के बाद डीएम ने शासन को भेजी थी रिपोर्ट

जासं, हाथरस। जिले के गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों को अनुदान दिलाने में फर्जीवाड़ा सामने आया है। इस फर्जीवाड़े में हाथरस ब्लॉक के खंड शिक्षा अधिकारी नंदित गुप्ता फंस गए हैं। शासन के विशेष सचिव आरवी सिंह ने बीइओ को निलंबित करने और उनके खिलाफ कार्यवाही करने के लिए शिक्षा निदेशक बेसिक को पत्र लिखा है।

हाथरस में गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय में अनुदान दिलाने के नाम पर बड़ा खेल हुआ है। इन विद्यालयों में फर्जी छात्र संख्या के आधार पर शिक्षकों के फर्जी पद सृजित किए गए। इनमें से कुछ विद्यालय तो केवल कागजों में ही चल रहे हैं। प्राथमिक विद्यालयों में 30 बच्चों पर एक शिक्षक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 35 बच्चों पर एक शिक्षक रखने का नियम हैं। गत वर्षाें में कई गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों का मान्यता प्राप्त विद्यालयों के लिए संबंद्धीकरण किया गया था। इसमें बड़े खेल सामने आया। जांच में सामने आया है कि फर्जी छात्र संख्या के आधार पर शिक्षकों को नियुक्ति की गई। इन शिक्षकों का वेतन भी दिलाया गया। वहीं छात्रों के मिड-डे मील, यूनिफॉर्म, पुस्तकों, रखरखाव, स्कूल के मेंटेंनेंस के नाम पर लाखों रुपये का फर्जीवाड़ा किया गया है। इन विद्यालयों के अनुदान संबंधी रिपोर्ट तैयार करने में बीइओ नंदित गुप्ता की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। कुछ माह पहले बीएसए ने इसकी जांच कराकर आख्या जिलाधिकारी को भेजी थी। जिलाधिकारी ने इसकी रिपोर्ट बनाकर शासन को कार्यवाही के लिए भेजा था। अब इस मामले में शासन के विशेष सचिव ने एक्शन ले लिया है। उन्होंने बीईओ का कार्य सरकारी सेवा के कर्तव्यों के विपरीत मानते हुए निलंबित करने और अनुशासनिक कार्यवाही करने के लिए शिक्षा निदेशक बेसिक को पत्र लिखा है। और भी अफसरों पर फंसेंगे

इस फर्जीवाड़े में और भी अधिकारियों की संलिप्तता सामने आ सकती है। इसकी जांच में कई बड़े अधिकारी, लिपिक और स्कूल संचालकों का हाथ लग रहा है। आगे की जांच में कई नाम सामने आ सकते हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस