संवाद सहयोगी, हाथरस : गोवर्धन महाराज की पूजा सोमवार को जनपदभर में धूमधाम से की गई। इस दिन घरों में बच्चों ने अपने परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर गोबर के गोवर्धन बनाकर सजाए। शाम के समय शहर में गोशाला स्थित गोवर्धन महाराज के मंदिर पर मेले का आयोजन किया गया। सैकड़ों लोगों ने गऊशाला पहुंचकर गोवर्धन महाराज की पूजा अर्चना की और परिक्रमा लगाई।

सोमवार को गऊशाला रोड स्थित श्रीकृष्ण गोशाला में दो दिवसीय मेला शुरू हुआ। यहां पर इस दिन सुबह से ही लोगों ने गोवर्धन शिला की पूजा-अर्चना करते हुए परिक्रमा लगाना शुरू कर दिया था। गिर्राज महाराज के तीन मंदिर ब्रज की देहरी कहे जाने वाले इस शहर के गऊशाला, कमला बाजार व गली रेबाड़पुरा में हैं। जो लोग गोवर्धन नहीं जा सके वे सोमवार की सुबह से ही इन मंदिरों की ओर उमड़ पड़े। भक्तों ने गंगाजल का छिड़काव करते हुए घी, शहद व दूध-दही आदि से अभिषेक करते हुए विधि विधान के साथ पूजा-अर्चना की। सुबह से घर-घर सजाए गए गोवर्धन महाराज की पूजा-अर्चना शाम होते ही शुरू हो गई। गिर्राजजी के जयकारे लगाए गए। अन्य गोशालाओं को भी रोशनी से खूब सजाया गया था पर गऊशाला रोड स्थित श्रीकृष्ण गोशाला पर रंगबिरंगी रोशनी सभी के आकर्षण का केंद्र बनी हुई थी। यहां पर विराजमान विशाल गोवर्धन प्रतिमा के भव्य श्रृंगार किए गए। साथ ही लोगों ने यहां पर सुबह से लेकर देर रात तक गोवर्धन महाराज की परिक्रमा की। इस दिन शहर में गुड़हाई, नजिहाई, मुरसान गेट, अलीगढ़ रोड आदि बाजारों में अन्नकूट की प्रसाद का वितरण किया।

सादाबाद : सोमवार को कस्बे के साथ देहात क्षेत्र में धूमधाम से गोवर्धन महाराज की पूजा की गई। गोबर से घर-घर गोवर्धन महाराज के स्वरूप बनाकर पूजा के साथ परिक्रमा करते हुए जनकल्याण की कामना की गई। इसके लिए मंदिरों में भी विशेष आयोजन हुए। क्षेत्र में स्थित गिर्राज जी के मंदिरों पर आकर्षक सजावट के साथ गोवर्धन महाराज के भव्य श्रृंगार किये गये। छप्पन भोग लगाए गये और अन्नकूट का प्रसाद जगह-जगह बांटा गया। प्रसादी पाने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही थी। देर रात्रि दर्शन के लिए भक्त मंदिरों में आते-जाते रहे। मंदिरों में भक्ति संगीत के कार्यक्रमों का आयोजन भी किया गया। भक्ति कार्यक्रमों में गोवर्धन महाराज व गिर्राज जी के खूब जयकारे लगे। सासनी, पुरदिलनगर आदि कस्बों में भी गोवर्धन की धूम रही।

सिकंदराराऊ : दीपावली के बाद सोमवार की अल सुबह सुहागिनों ने स्याहू माता की पूजा की तो शाम को गोवर्धन महाराज की पूजा अर्चना की गई। जगह-जगह अन्न कूट की प्रसादी का वितरण किया गया। गोवर्धन पूजा के अवसर पर घर-घर में गोवर्धन महाराज की मनोहारी आकृति बना कर पूजन किया गया। छप्पन भोग एवं अन्नकूट की प्रसादी का वितरण किया गया। मोहल्ला अनल कॉलोनी स्थित मंदिर पर विशाल अन्नकूट प्रसाद वितरण का आयोजन किया गया। इस मौके पर केदार बाबू वाष्र्णेय, नीरज वैश्य, पवन वाष्र्णेय, विशाल वाष्र्णेय, विजय भारत कुलश्रेष्ठ, शिव ज्वैलर्स, चक्रवर्ती पाठक, राजू सुपारी, निखिल वर्ती पाठक, उत्कर्ष पाठक आदि मौजूद थे।

हसायन : कस्बे में भी गोवर्धन बाबा की विशाल प्रतिमा गोबर से बनाई गई। रंग गुलाल से भव्य श्रृंगार किया गया। लोगों ने गोवर्धन महाराज की पूजा अर्चना की। हसायन कस्बे में पंचम वर्ष श्री गोवर्धन महाराज का भव्य कार्यक्त्रम हुआ जिसमें दोपहर को कढ़ी-भात एवं शाम को 3 कुंटल पूडी सब्जी का प्रसाद वितरित किया गया। विकास गौड, बॉबी शर्मा, अंकुर शर्मा (काका जी), सागर पाठक, शिवम पाठक, दीपक उपाध्याय ,देबू पाठक गौपेश दीक्षित, सोनू पाठक , राहुल दीक्षित , मोनी शर्मा आदि मौजूद थे। इनसेट--

दूध व गोबर के लिए इधर-उधर भटकते रहे लोग

हाथरस : सोमवार को सुबह से ही लोग दूध व गोबर के लिए घरों से निकल पड़े। अपने घरों पर त्योहार मनाने के लिए अधिकतर दूधियों ने लोगों को दूध ही वितरित नहीं किया था। सुबह से ही लोग हाथों में डोलची व बोतल लिए बाइक पर सवार होकर गोशाला, दूधवाले व हलवाइयों के यहां चक्कर काटते दिखे। गोबर के लिए भी लोगों को शहर छोड़ते हुए ग्रामीण क्षेत्रों का रुख करना पड़ा। बहुत से लोगों ने शहर में ही पैसे देकर गोबर खरीदते हुए गोवर्धन महाराज बनाकर सजाए। इसके बाद खील-बतासों से उनकी पूजा की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस