संवाद सहयोगी, हाथरस : प्रदेश शासन की मंशा के अनुरूप दैवीय आपदा के 132 मामलों में राहत के लिए 27 लाख 15 हजार रुपये की आवश्यकता थी, जबकि फंड केवल 20 लाख रुपये मौजूद था। जिलाधिकारी डॉ. रमाशंकर मौर्य ने आकस्मिकता निधि फंड टीआर-27 से पीड़ितों की मदद के लिए 7 लाख 15, हजार रुपये जारी कर दिए हैं, जिससे सभी को समय से राहत मिल सके। अब शासन ने 30 लाख रुपये की निधि दैवीय आपदा कोष के लिए जारी कर दी है। किस तहसील में कितना लाभ

तहसील, लाभार्थी, अवमुक्त धन

हाथरस, 35, 0643500.00 रुपये

सादाबाद, 85, 771000.00 रुपये

सिकंदराराऊ, 09, 1255000 रुपये

सासनी, 03, 43000 रुपये

योग, 132, 2715500.00 रुपये

इन्हें भी जल्द लाभ

सादाबाद में 68 मामलों में 3,01,200 रुपये, सिकंदराराऊ में पांच मामलों में 35 हजार रुपये, सासनी में एक मामले में 32 हजार रुपये, हाथरस में दो मामलों में 14,800 रुपये के दैवीय आपदा के मामलों के प्रस्ताव जिलाधिकारी को मिले हैं। इन सभी की फाइल स्वीकृत कर दी गई है। इन्हें सोमवार तक बैंक खातों में धनराशि भेज दी जाएगी। दैवीय आपदा में राहत के लिए शासनादेश में हुआ बदलाव

हाथरस : भारत सरकार ने राज्य आपदा मोचक निधि व राष्ट्रीय आपदा मोचक निधि के व्यय के संबंध में मानक व दरों का निर्धारण करते हुए इसे प्रभावी करने का निर्देश जारी किया है, जिसके तहत प्रदेश सरकार ने अधिसूचना जारी कर आकाशीय बिजली, आंधी तूफान, लू के प्रकोप के साथ नाव दुर्घटना, सर्पदंश, सीवर सफाई, गैस रिसाव, बोरवेल में गिरने से होने वाली दुर्घटना को राज्य आपदा घोषित किया है। इसके लिए विभिन्न मदों से फंड की व्यवस्था की गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस