एक को चेतावनी, आठ का वेतन रोका

हरदोई : ग्राम सचिवालय कार्यालयों की क्रियाशीलता और गांवों के विकास कार्यों की जूम मीटिंग में शामिल न होने को जिला पंचायत राज अधिकारी ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने विकास खंड भरावन की एक पंचायत सचिव को चेतावनी और आठ सचिवों के एक दिन के वेतन भुगतान पर रोक लगा दी है। डीपीआरओ विनय कुमार सिंह ने गुरुवार को विकास खंड भरावन, भरखनी और टड़ियावां के पंचायत सचिवों, पंचायत सहायकों की जूम मीटिंग ली। बताया कि पंचायत सचिवों से ग्राम सचिवालयों के कार्यालयों के क्रियाशीलता, रोस्टर अनुसार हाजिरी और पंचायतराज व ग्राम विकास की योजनाओं, कार्यक्रमों की प्रगति की जानकारी ली गई। पंचायत सचिवों से कहा गया है कि जहां पर भी पंचायत भवन अपूर्ण हैं, वहां पर एक सप्ताह में काम पूरा करा लिया जाए। स्पष्ट किया गया है कि दोबारा समीक्षा में काम पूरा न मिलने पर संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। बताया कि विकास खंड भरावन की पंचायत सुजाता, स्वाति और रामकुमार ने मीटिंग में प्रतिभाग किया, लेकिन सुजाता ने तैनाती ग्राम पंचायत के कार्यालय के स्थान पर ब्लाक कार्यालय से ही प्रतिभाग किया। सुजाता को ग्राम पंचायत कार्यालय में गैरहाजिर मानते हुए चेतावनी जारी की गई है, जबकि आठ अन्य पंचायत सचिवों की ओर से प्रतिभाग न करने पर 25 अगस्त के वेतन भुगतान पर रोक लगाई गई है। भरखनी और टड़ियावां में पंचायत सचिव कार्यालयों से प्रतिभाग किए। पंचायत सहायक कार्यालय और प्रधान कक्ष का भी अवलोकन किया गया।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट