हरदोई : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ने सरकार पर शिक्षक विरोधी नीतियों का आरोप लगाते हुए उनके विरोध में घर पर रहकर एक दिन उपवास रखकर विरोध जताया।

संघ के जिलाध्यक्ष राजीव कुमार मिश्र ने बताया की प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा के आवाहन पर जिले के सभी कार्यकारिणी सदस्यों के साथ ही बड़ी संख्या में शिक्षक साथियों ने भी अपने -अपने आवास पर उपवास रखकर सरकार से शिक्षक विरोधी नीतियों को बंद करने की मांग की। उन्होंने कहा कि वर्चुअल क्लासेस सरकार का एक असफल प्रयोग है। 80 फीसद छात्र ऑनलाइन शिक्षण का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। फिर भी सरकार ने ग्रीष्मावकाश में भी ऑनलाइन शिक्षण व्यवस्था जारी रहने का फरमान जारी कर दिया है। जिसका संगठन विरोध करता है। वित्तविहीन शिक्षकों के समक्ष आर्थिक परेशानी को देखते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने सरकार को कई पत्र लिख करके उनके लिए विशेष पैकेज जारी करने की मांग की गई थी। परंतु सरकार ने उसे भी संज्ञान में नहीं लिया। डीए को फ्रीज करना और भत्तों को समाप्त करना सरकार की कर्मचारी और शिक्षक विरोधी नीति है। उन्होंने बताया कि एक सप्ताह तक वर्तमान परिस्थिति में संघर्ष की रूपरेखा का चितन मनन करने के बाद अगले कार्यक्रम की घोषणा 4 जून को की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस