हरदोई : नशे के आदी एक युवक ने पत्नी को पीट पीटकर मार डाला। यूपी 100 पुलिस उसे हिरासत में लेकर कोतवाली ले गई। बेनीगंज कोतवाली क्षेत्र में हुई इस घटना में मृतका के पिता ने दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए छह के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई है।

कोतवाली क्षेत्र के झरोइया निवासी मुकेश नशे का आदी था। कुछ दिन पूर्व वह नशे में घर में आग भी लगा चुका था। उससे घर वाले भी परेशान थे। अप्रैल 2017 को ही उसकी शादी बघौली थाना क्षेत्र के थोकमाधव छोटी अहिरी निवासी मामा रामसेवक की पुत्री जूली (20) के साथ हुई थी। पत्नी को भी वह नशे में मारता पीटता था। सोमवार की रात मुकेश ने जूली को पीट पीट कर मरणासन्न कर दिया। पिता पल्टूराम ने 100 नंबर को सूचना दी तो पुलिस पहुंची और मुकेश को कोतवाली ले गई। परिवारी जन रात को ही जूली को उपचार के लिए कोथावां सीएचसी ले गए और फिर वापस ले आए। उसकी फिर हालत बिगड़ी और उसे अस्पताल ले जाया जा रहा था। इसी बीच सुखईपुरवा के पास पहुंचते ही उसकी मौत हो गई। मायके वालों को सूचना मिली तो वह लोग आए। मृतका के पिता ने दहेज हत्या का आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि पति मुकेश कुमार, ससुर पल्टूराम पुत्र भोले, ननदोई हरीशंकर पुत्र रामविलास, बक्सापुर बेनीगंज थाना ननद रागिनी रेनू एवं सास दीपा ने दहेज की खातिर उसकी पुत्री को मार डाला। सीओ उमाशंकर ¨सह भी मौके पर पहुंचे और नायब तहसीलदार की मौजूदगी में शव का पंचनामा कराया गया। कोतवाल सुभाष चंद्र ने बताया कि तहरीर के आधार पर एफआइआर दर्ज कर ली गई है।

मिल जाता उपचार को बच जाती जान

जूली की मौत का कारण उसका पति तो बना ही पुलिस ने भी लापरवाही बरती। सूचना पर यूपी 100 पुलिस टीम पहुंची थी, लेकिन आरोपित मुकेश को ही हिरासत में लेकर चली गई। अगर जूली को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचा दिया होता तो उसकी जान बच जाती। परिवारी जन भी अस्पताल ले गए लेकिन फिर लौटा लाए।

Posted By: Jagran