हरदोई : शिक्षिकाएं अब टीम बनाकर गांव-गांव महिला लाभार्थियों को केंद्र और प्रदेश सरकार के महिला सशक्तीकरण की दिशा में उठाए गए कदमों की जानकारी देंगी।

नारी सशक्तीकरण संकल्प अभियान में स्वास्थ्य और बाल विकास पुष्टाहार विभाग के साथ बेसिक शिक्षा विभाग को भी लगाया गया है। 9 से 19 दिसंबर तक विशेष अभियान चलेगा और 20 दिसंबर को नारी स्वावलंबन सम्मेलन के साथ समापन होगा।

बेसिक शिक्षा निदेशक ने महिला अधिकारियों के साथ शिक्षिकाओं और महिला कर्मचारियों को भी जिम्मेदारी सौंपी है। निदेशक ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को जारी पत्र में कहा कि महिला सशक्तीकरण की दिशा में शिक्षा और स्वरोजगार, स्वास्थ्य एवं पोषण, स्वच्छता तथा सुरक्षा आदि महत्वपूर्ण विषयों की जानकारी महिलाओं तक पहुंचाना आवश्यक है। इसके लिए महिला अधिकारी एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की टीम गांव-गांव एवं ब्लाक स्तर पर जाकर लाभार्थियों को न केवल सरकार की योजनाओं की जानकारी देंगी, बल्कि महिलाओं को व्यवहारिक वित्तीय सलाह, विभिन्न सरकारी उद्यमी योजनाएं जैसे मुद्रा योजना, स्टैंडअप इंडिया, जनधन योजना आदि के विषय में जागरूकता प्रदान करेंगी। मीना सम्मेलन में दी जाएगी जानकारी

नारी सशक्तीकरण के अभियान में तीन दिवसीय मीना सम्मेलन का भी आयोजन किया जाएगा। इसमें दो हजार से अधिक बालिकाएं प्रतिभाग करेंगी। इन बालिकाओं के माध्यम से न केवल सशक्तीकरण बल्कि सुरक्षा संबंधी जानकारी देकर उनके अंदर आत्म विश्वास भी जगाया जाएगा।

Posted By: Jagran