हरदोई : पुलिस ने एसटीएफ की सूचना पर हरदोई-लखनऊ मार्ग पर देहात कोतवाली क्षेत्र के नानकगंज झाला के पास वाहन चेकिग के दौरान 25 क्विंटल डोडा पकड़ा। 133 बोरियों में भरा डोडा झारखंड से बरेली जा रहा था। पुलिस ने डीसीएम चालक को हिरासत में ले लिया है। पूछताछ में उसने बस इतना बताया कि माल बरेली लेकर जा रहा था। झारखंड से किसने भेजा था, उसके बारे में कोई जानकारी नहीं दे सका। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए डोडा की कीमत ढाई करोड़ रुपये है।

एसपी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि एसटीएफ लखनऊ की टीम ने सर्विलांस और देहात कोतवाली पुलिस को एक डीसीएम में डोडा भरे होने की सूचना दी थी। जिसके बाद एसटीएफ के उपनिरीक्षक विनोद सिंह ने अपनी टीम के साथ उसका पीछा किया। सोमवार की रात हरदोई-लखनऊ मार्ग पर नानकगंज झाला के पास पुलिस टीम ने चेकिग के दौरान डीसीएम को रोका, जिसमें बोरियां रखी हुई थी। जब बोरियों को खोलकर देखा गया तो उसमें डोडा भरा हुआ था। पुलिस टीम ने चालक को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में डीसीएम चालक ने अपना नाम मतिउल्ला पुत्र इमामुल्ला निवासी फर्खपुर थाना फरीदपुर बरेली बताया। उसने बताया कि वह उत्तराखंड के रुद्रपुर से प्लाई लेकर झारखंड गया था। जहां से खाली डीसीएम लाते समय एक व्यक्ति उसे मिल गया और यह माल बरेली के फरीदपुर में अनीस और अकरम तक पहुंचाने के लिए कहा था और वह माल लेकर वहीं जा रहा था। एसपी ने बताया कि अनीस और अकरम की तलाश के लिए टीम को लगाया गया है और जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पूरा नेटवर्क करता है काम

पुलिस का मानना है कि डोडा भेजने वालों का पूरा नेटवर्क है। शुरुआती जांच में इतना पता चला कि ये लोग डीसीएम आदि वाहनों को किराए पर ले लेते हैं और उसके पीछे पीछे खुद चलते हैं। अगर कहीं पर वाहन पकड़ जाता है तो खुद भाग जाते हैं। नहीं तो लक्ष्य तक पहुंच जाते। एसपी ने बताया कि पूरे नेटवर्क की तलाश हो रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस