हरदोई : जिले में डेंगू का डंक तेजी से फैल रहा है। अब तक 50 से अधिक मरीज पीड़ित हैं और दो सैकड़ा से अधिक मरीजों की जांच की जा चुकी है। शहर में भी दस मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है। डेंगू का मरीज मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम उस क्षेत्र के आसपास छिड़काव कर देती है और अपनी जिम्मेदारी से पूरी कर देते हैं।

मच्छरों का प्रकोप फैलने से बीमारियों की बाढ़ सी आ गई है। जिले में मलेरिया के बाद अब डेंगू ने पैर पसार लिए हैं। जिसमें सबसे अधिक शहर में दस मरीज हैं। शहर के दस मरीजों में डेंगू की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। जिस क्षेत्र में मरीज मिले हैं उनके आसपास दवाओं का छिड़काव कराया जा रहा है। जिससे अन्य लोग डेंगू के शिकार न हो सके। साथ ही मरीजों की जांच के बाद उन्हें दवाएं उपलब्ध कराने का स्वास्थ्य महकमा दावा तो करता है लेकिन मरीज बाहर की दवाओं से अपना इलाज करा रहा है। जब मरीजों को यहां की दवाएं लाभ नहीं देती हैं तो वह लखनऊ जाकर इलाज कराता है। खास बात तो यह है कि जिला अस्पताल में डेंगू वार्ड बना है पर आज तक एक भी मरीज वहां पर भर्ती नहीं हुआ। अस्पताल में फिजीशियन के न होने के कारण उनका इलाज नहीं हो पाता है। इन मरीजों को देखने के लिए इमरजेंसी में मौजूद डॉक्टर के पास भेजा जाता है। इसके साथ ही ओपीडी में डॉक्टर भी मरीजों को परामर्श दे रहे हैं। घर के आसपास रखे सफाई : स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव-गांव जाकर लोगों को जागरूक करने का प्रयास कर रही है। घर में पानी एकत्र न होने दें। इसके साथ ही फ्रिज के पीछे एकत्र होने वाले पानी को प्रतिदिन साफ करें और घर के आसपास भी साफ सफाई रखें। जिससे डेंगू का लार्वा नहीं पनपेगा। बोले जिम्मेदार : इस संबंध में सीएमओ डा. एसके रावत ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार गांवों में जाकर दवाएं वितरित कर रही है। साथ ही दवाओं का छिड़काव भी हो रहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप