हरदोई (जेएनएन)। हरदोई जिले में रेल में एक ऐसे स्टंट का वीडियो सामने आया है जिसमे ज़रा सी चूक से जान जा सकती है। ट्रेन में ख़तरनाक स्टंट बाजी का शायद ही ऐसा वीडियो आपने पहले देखा हो। अपनी इसी स्टंटबाजी का वीडियो बनवाकर वायरल करने वाला स्टंटबाज रेलों में सामान चुराने वाला एक चोर है। जिसे आरपीएफ ने वीडियो देखने के बाद गिरफ्तार करके जेल भेजा है। तीन महीने पहले शूट किया गया वीडियो पिछले महीने की 20 अगस्त को आरपीएफ के लोगो को नजर आया और हरदोई से लखनऊ के बीच रेल रुट पर बघौली और संडीला स्टेशन के बीच का बताया जाता है   

ज़रा चलती ट्रेन के इस वीडियो को देखिये ट्रेन बहुत तेज़ गति में बढ़ती जा रही है रेल की पटरिया और ट्रेन का बाहरी हिस्सा आपको नजर आ रहा है लेकिन देखिये कुछ देर में आपको ट्रेन के नीचे का हिस्सा और पहिये नजर आने लगे। दरअसल यह वीडियो शूट किया जा रहा है। अचानक आपको ट्रेन के निचले हिस्से में कोई पैर हरकत करते नजर आएगा। कुछ ही पलो में ट्रेन के नीचे से रेंगता हुआ एक युवक आपको साफ़ नजर आने लगेगा और कुछ ही पलो में तेज़ रफ़्तार में भागती ट्रेन के नीचे से एक युवक आपको फुटरेस्ट से होता हुआ ट्रेन के डिब्बे पकड़ कर दरवाजे पर लटकता हुआ स्टंट करता नजर आएगा।

आपके लिए यह देखना हैरानी भरा हो सकता है। तेज़ रफ़्तार ट्रेन के नीचे से ऊपर आना जरा सी चूक से जान भी सकती है लेकिन उसके बाद भी हरदोई और लखनऊ के बीच कुछ दिन पहले ट्रेन में यह स्टंट किया गया और इसे बाकयदा मोबाइल से शूट करने के बाद वायरल भी किया गया। ट्रेन में इस तरह का स्टंट वायरल करने के बाद जब आरपीएफ ने इस पूरे मामले की तहकीकात की तो पता चला युवक का नाम अमित कश्यप है। अमित कश्यप शहर कोतवाली हरदोई के मंगलीपुरवा मुहल्ले का रहने वाला है और इसका पेशा ट्रेनों में चोरी करने का और ट्रेन के सामान चोरी करने का है। आरपीएफ को इसकी ट्रेन के इंजन से बैटरी चोरी करने के मामले तलाश थी। 

आरपीएफ कमांडेंट योगेश यादव के अनुसार  यह लखनऊ से बरेली के बीच में घटनाओं को अंजाम देता था इसका नाम अमित कश्यप है और इसने जो अपना पता बताया था गिरफ्तारी के दौरान गलत पाया गया उसके बारे में न्यायालय को लिखा गया है यह चलती गाड़ी में पैसेंजरों का सामान चोरी में अन्य संलिप्त  ऐसी जानकारी प्राप्त हो रही है हमारे यहां रेलवे में 15 जून को बघौली स्टेशन पर इंजन से 2 बैटरी चोरी में संलिप्त था इसके बारे में मुकदमा दर्ज किया गया था पहले से अपराधी की तलाश की जा रही थी उसी संदर्भ में सूचना प्राप्त हुई थी किसने चोरी किया तो इस पर नजर रख रहे थे

लेकिन इसको पकड़ नहीं पा रहे थे इसने अभी एक वीडियो वायरल किया था जिसमें चलती गाड़ी से बाहर साइड से  करके पावदान से बैठकर के पैसेंजर कोच में जा रहा है इसकी वीडियो वायरल हुई थी और उसने स्वयं ही वीडियो बनवा करके स्वयं ही वीडियो वायरल किया था वीडियो हम लोगों के हाथ लग गई जिसके आधार पर इस की शिनाख्त निश्चित की गई और फिर से गिरफ्तार किया गया यह लखनऊ से बरेली के बीच में अपराध को अंजाम देता था। 

    

Posted By: Ashish Mishra