हरदोई : पुलिस लाइन सभागार में परिवार परामर्श केंद्र में रविवार को सात दंपती आए और समिति ने उनके बीच विवादों को सुना गया। जिसमें चार को एक साथ रहने को राजी करते हुए पुलिस लाइन से विदा कर दिया गया। आपसी विवादो को सुलह समझौता से दूर कर जिदगी को पटरी पर लाने का प्रयास पुलिस कर रही है।

रविवार को पुलिस लाइन सभागार में परिवार परामर्श केंद्र का आयोजन किया गया। छोटी-छोटी बातों को लेकर हुए विवाद बड़ा रूप ले लेते हैं और दंपती के बीच दूरियां बढ़ने लगती हैं। धीरे-धीरे यही दूरियां एक-दूसरे से अलग कर देती हैं। ऐसे मामलों को महिला थाने में भेजा जाता है और जब मामला नहीं सुलझता तो परिवार परामर्श केंद्र में बुलाकर दोनों पक्षों की बातें सुनते हुए साथ रहने को राजी किया जाता है। इस दौरान 17 दंपतियों को सुलह के लिए पुलिस लाइन सभागार में बुलाया गया। जिसमें 7 दंपती आए और उनके बीच हुए विवादों को सुनकर 4 को एक बार फिर साथ रहने को राजी किया गया। समिति ने एक-दूसरे पर विश्वास करते हुए जीवन को साथ जीने की बात कही और बच्चों पर विशेष ध्यान देने की बात कही। सभी ने समिति की बात को मानते हुए दिल के शिकवे दूर कर जीवन साथ गुजारने का वादा किया। इस दौरान एसपी आलोक प्रियदर्शी, एएसपी पश्चिमी त्रिगुण विशेन, सीओ हरियावां शैलेंद्र सिंह राठौर, महिला थाना प्रभारी हंसमती, नरेश गोयल, रोली टंडन, कविता महेंद्रा, शोभना सिंह, कुसुमलता गुप्ता आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस