हरदोई : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से जुड़े किसानों के लिए राहत भरी खबर है। अब किसानों को किसी भी छोटे-मोटे काम, उपकरणों व बीज की खरीद के लिए साहूकारों के आगे हाथ नहीं फैलाने होंगे। बैंक इन किसानों सहारा बनेगी और उन्हें केसीसी के माध्यम से सस्ता कर्ज उपलब्ध कराएंगी। बैंकों की ओर से इन लाभार्थियों को जोड़ने का विशेष अभियान चलाया जा रहा है। बैंकों ने अभियान के पहले चरण में सवा लाख से अधिक पीएम किसान के लाभार्थियों को केसीसी (किसान क्रेडिट कार्ड) से जोड़ा है, अब इन किसानों को साधारण ब्याज की दर पर ऋण उपलब्ध कराया जाएगा।

जिले के 6,26,666 किसानों ने अब तक किसान सम्मान निधि योजना के तहत आवेदन किया है। इनमें से पांच लाख 66 हजार 602 किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ दिया जा रहा है, जबकि किसान क्रेडिट कार्ड रखने वाले किसानों की संख्या जिले में महज 2,54,988 ही है। अब सम्मान निधि पाने वाले सभी किसानों को केसीसी से जोड़ने की तैयारी तेज हो गई है। इन किसानों द्वारा लिए गए ऋण के मूलधन पर सालाना चार प्रतिशत के हिसाब से साधारण ब्याज लगाया जाएगा। बैंकों की ओर से चलाए जा रहे अभियान के पहले चरण में एक लाख लाभार्थियों को जोड़ने की योजना है, जिसमें अब तक 1,25,490 लाभार्थियों को जोड़ा गया है, जिनके केसीसी कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। बैंकों की ओर से इन लाभार्थियों के कार्ड मार्च के पहले सप्ताह में वितरित करने की तैयारी है। 1,60,000 रुपये तक के ऋण पर नहीं लगेगी गारंटी : कृषि विभाग की सूची के आधार पर बैंकों द्वारा पीएम किसान योजना के लाभार्थियों से केसीसी फार्म भरवाए जा रहे हैं। इन किसानों को एक लाख 60 हजार रुपये तक ऋण पर गारंटी भी नहीं देनी होगी और चार फीसद की वार्षिक ब्याज की दर से सस्ता ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। एलडीएम बोले..

--प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों के लिए यह सुनहरा मौका है। किसान खसरा या खतौनी, आधार कार्ड, चार पासपोर्ट साइज फोटो व बैंक पासबुक की छायाप्रति उपलब्ध कराकर बैंकों में केसीसी फार्म जमा कर दें। जिसके उपरांत किसानों को केसीसी से लाभांवित किया जाएगा।

-- बीएन शुक्ला, अग्रणी जिला प्रबंधक

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस