हरदोई : हत्या, लूट जैसी सनसनीखेज घटनाओं में 13 साल से फरार चल रहा 25 हजार का इनामी पुलिस के हत्थे चढ़ गया। वह पंजाब, लुधियाना में फर्जी आधार कार्ड बनाकर दूसरे नाम से रहता था। स्वाट टीम और कोतवाली पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई में उसके पास से एक तमंचा भी बरामद किया है।

पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि पुरस्कार घोषित शातिरों के विरुद्ध एएसपी पूर्वी और सीओ सिटी के नेतृत्व में अभियान चलाया जा रहा है। सोमवार को स्वाट टीम प्रभारी आलोक ¨सह ने शहर कोतवाली पुलिस के साथ मिलकर एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान उसने अपना नाम प्रेमलाल पुत्र डोरीलाल निवासी टिकरा मजरा देहात कोतवाली बताया। उन्होंने बताया कि प्रेमलाल पर दो हत्या, पुलिस मुठभेड़ और दुष्कर्म समेत एक दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। दस मुकदमे देहात कोतवाली क्षेत्र में दर्ज हैं। उन्होंने बताया कि प्रेमलाल फर्जी आधार कार्ड बनवाकर हरियाणा, पंजाब और लुधियाना में रह रहा था। फर्जी आधार में उसने अपना नाम प्रेम पुत्र दारीलाल लिखवा रखा था। पुलिस ने उसके पास से एक तमंचा और दो कारतूस भी बरामद की हैं। गिरफ्तारी में कोतवाल दीपक ¨सह, उपनिरीक्षक, राहुल कुमार ¨सह, योगेश कुमार, सिपाही राहुल कुमार, अभिनन्दन यादव, अखिलेश मौर्या शामिल रहे। एसपी ने सभी की सराहना की है।

Posted By: Jagran