संवाद सहयोगी, गढ़मुक्तेश्वर

कारिगल युद्ध में पाकिस्तानी सेना के छक्के छुड़ाने के बाद अपने प्राणों का बलिदान देने वाले लांस नायक सतपाल सिंह को स्वजन समेत विभिन्न संगठनों ने पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

बहादुरगढ़ क्षेत्र के गांव लुहारी निवासी सतपाल सिंह ने कारगिल युद्ध में दुश्मन फौज के दांत खट्टे करते हुए भारत को विजय दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी, हालांकि इस युद्ध में उन्हें प्राणों का बलिदान भी देना पड़ा था।

सोमवार को 22 वें बलिदान दिवस पर उनके पैतृक गांव में स्वजन और सगे संबंधियों समेत कई समाज सेवी संगठनों के प्रतिनिधि जुटे, जिन्होंने बलिदानी सतपाल सिंह की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। सर्वप्रथम मेरठ से आई बलिदानी की पत्नी बबीता ने बेटे पुलकित कुमार एवं बेटी दिव्या कुमारी के साथ प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। इसके पश्चात शिक्षाविद् राजकुमार हिदुस्तानी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य चौधरी प्रियपाल, अमित सिरोही, सुंदर सिंह, जगपाल, रणधीर सिंह, राजकुमार प्रधान, हनी समेत सैकड़ों ग्रामीणों ने बलिदानी सतपाल सिंह को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान राजकुमार हिदुस्तानी ने कहा कि सतपाल सिंह ने देश के लिए लड़ते हुए अपनी जान न्यौछावर कर गांव समेत समूचे क्षेत्र का गौरव बढ़ाया था, जिन्हें शत शत नमन है। उनकी वीरता और साहस को सदैव याद रखा जाएगा। प्रतिमा स्थल पर सबसे पहले हवन-यज्ञ किया गया, जिसके उपरांत भंडारा कर प्रसाद वितरित किया गया।

Edited By: Jagran