जागरण संवाददाता, हापुड़

अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन के चलते जनपद में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम रहे। जनपद के दो सुपर जोन, तीन जोन और नौ सेक्टर में तैनात किए गए पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने बखूबी अपनी जिम्मेदारी निभाई। दिनभर जनपद की सड़कों पर पुलिस के वाहन दौड़ते रहे। सायरन की आवाज से सहमे लोगों में सुरक्षा का अहसास भी रहा। धार्मिक स्थलों से लेकर अतिसंवेदनशील व मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों में पुलिसकर्मी सतर्कता के साथ तैनात रहे। सुरक्षा की ²ष्टि से 15 अगस्त तक जनपद में हाई अलर्ट घोषित किया गया है।

एसपी संजीव सुमन ने बताया कि बुधवार को राम जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया गया। जनपद में माहौल न बिगड़े इसके लिए पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने पुख्ता इंतजाम किए थे। मंगलवार रात से ही जनपद के धार्मिक स्थलों, अतिसंवेदनशील, संवेदनशील व मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों में पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई थी। दिन निकलते ही अपर जिलाधिकारी जयनाथ यादव व अपर पुलिस अधीक्षक सर्वेश कुमार मिश्रा सुरक्षा व्यवस्था को परखने के लिए सड़क पर उतर गए।

जोनल प्रणाली के तहत तैनात किए गए प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने भी सुबह से ही मोर्चा संभाल लिया। सभी थानों व चौकी की पुलिस अपनी ड्यूटी पर सतर्कता के साथ तैनात रही। क्यूआरटी के साथ एलआइयू की टीम ने जनपद की प्रत्येक गतिविधि पर पैनी नगर रखी। दिन निकलते ही पुलिस वाहनों पर लगे सायरन की आवाज से सहमे लोगों में सुरक्षा का अहसास रहा।

सोशल मीडिया पर भड़काऊ मैसेज वायरल करने वालों पर छह टीमें दिनभर निगरानी करती रही। कुल मिलाकर जनपद में शांति का माहौल है। सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर 15 अगस्त तक जनपद में हाई अलर्ट घोषित कर दिया है। ड्यूटी में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। एसपी ने लोगों से शांति व्यवस्था व आपसी सौहार्द बनाए रखने की अपील की है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021