संवाद सहयोगी, गढ़मुक्तेश्वर

नगर से रोजाना निकल रहे छह टन कचरे को उपयोगी बनाकर आर्थिक सुधार के लिए नगर पालिका ने कमर कस ली है। नगर में कूड़ा उठाने के लिए डोर-टू-डोर योजना पहले ही लागू की जा चुकी है। अब मैटेरियल रिसीव फैकल्टी(एमआरएफ) सेंटर की सौगात शहरवासियों को मिलने जा रही है। इस नई कवायद से शहर स्वच्छ व सुंदर बनेगा और लोगों को फायदे होंगे। वहीं नगर पालिका की आय बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। नगर को स्वच्छ बनाने की कवायद में जुटी पालिका अब कूड़े का भी निस्तारण करेगी। नगर से निकलने वाले कूड़े-कचरे से खाद भी तैयार की जाएगी। इसके लिए पालिका अधिकारियों ने कवायद शुरू कर दी है। इस प्रोजेक्ट पर करीब सवा करोड़ रुपये खर्च होंगे। एक माह बाद यह प्लांट शुरू हो जाएगा। वर्तमान में नगर से निकलने वाले कूड़े को जहां-तहां डंप किया जाता है। जहां आए दिन आग लगने की घटनाएं सामने आती रहती हैं। अब पालिका ने कूड़ा एकत्र करने के लिए डंपिग ग्राउंड तैयार कर दिया है। डंपिग ग्राउंड में कूड़े के ढेर लगाए जा रहे हैं। कूड़े के इन्हीं ढेरों समाप्त कर लोगों को बदबू से निजात दिलाने और कूड़े का निस्तारण किया जाएगा। नगर पालिका कार्यालय के निकट कूड़ा निस्तारण प्लांट का संचालन शुरू कराया जाएगा। कूड़े को अलग-अलग करने के लिए एक मशीन खरीदी गई। मशीन गीले कूड़े, मोटे रोड़े, बारीक पत्थर, छोटे रोड़े और कपड़े की कतरन, प्लास्टिक आदि को अलग करेगी। इसके बाद इसका निस्तारण किया जाएगा। ------ बिकेगी कूड़े से बनी खाद नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी संजीवन राम यादव ने बताया कि हल्के पत्थर, रोडी और सीमेंटेड वेस्टेज को पीसकर बारीक करेगी जोकि सड़क निर्माण करेगी। प्लास्टिक या अन्य सामाग्री को एकत्र कर बेच दिया जाएगा। गीले कूड़े से पालिका खाद तैयार करके किसानों के बेचेगी। ये कंपोस्ट की तरह की खाद होगी। ------ पांच से सात टन कूड़ा निस्तारित अधिशासी अधिकारी ने बताया कि कूड़ा निस्तारण मशीन एक घंटे में पांच से सात टन कूड़ा निस्तारित करेगी। आठ दिन का कूड़ा स्टोर करने के बाद मशीन को चलाया जाएगा। ------ कूड़ा संग्रह के लिए लगाए गए हैं वाहन सड़कों पर कूड़ा फेंकने पर रोक लगाने के उद्देश्य से नगर पालिका ने वाहनों की व्यवस्था की है। इसके लिए शहर के सभी 25 वार्डों में वाहन लगाए हैं। सफाई कर्मी अपने निर्धारित वार्डों की हर गली में सीटी बजाकर घरों से कूड़ा एकत्र कर रहे हैं। कूड़े को अलग-अलग डिब्बों में डालने के बाद दोपहर में दो बजे के बाद लोडरों में भरकर बाहर फेंका जाता है। ------ गंदगी से राहत के साथ बढ़ेगी आय कूड़ा निस्तारण योजना से नगर की स्वच्छता बढ़ेगी। इसके लिए पूरी तैयारी है। उम्मीद है एक माह बाद प्रोजेक्ट चालू हो जाएगा। जिससे गंदगी से राहत मिलने के साथ पालिका की आय में भी बढ़ोतरी होगी। - सोना सिंह, नगर पालिका अध्यक्ष

Edited By: Jagran