24एचपीआर34-35

संवाद सहयोगी, गढ़मुक्तेश्वर

बाईपास पर अंडरपास की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे ग्रामीणों का बेमियादी धरना छठे दिन भी जारी रहा, जिसे समर्थन देने आए सपा और रालोद नेता भी धरने में शामिल हुए। सिभावली क्षेत्र के गांव सिखैड़ा के पास से होकर बनाए जा रहे दिल्ली-लखनऊ नेशनल हाईवे के बाईपास में ग्रामीण अपने गांव के पास ही अंडरपास खुलवाए जाने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं, जिन्होंने बृहस्पतिवार को लगातार छठे दिन भी बेमियादी धरने पर बैठकर अपना विरोध जताया। सपा जिलाध्यक्ष तेजपाल प्रमुख ने दर्जनों कार्यकर्ताओं के साथ धरने में शामिल होकर ग्रामीणों द्वारा की जा रही अंडरपास की मांग को पूरी तरह वाजिब और जनहित में बताकर हरसंभव स्तर पर संघर्ष करने की घोषणा की।

रालोद के पंचायत राज प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष पंडित नानक चंद शर्मा के नेतृत्व में शिवकुमार, फारूक अली ओमपाल सिंह समेत कई कार्यकर्ताओं ने धरना स्थल पर पहुंचकर ग्रामीणों की मांग का समर्थन किया। सपा और रालोद नेताओं ने आरोप लगाया कि ग्रामीणों की वाजिब मांग को एनएचएआइ के अधिकारी नजरअंदाज कर रहे हैं, जिसके चलते ग्रामीणों को जरूरी कामकाज छोड़कर कई दिनों से चिलचिलाती धूप और उमस भरी गर्मी में धरने पर बैठना पड़ रहा है। प्रधान मंसूर अली, इमरान, अरविद, सचिन त्यागी, संजय त्यागी, तनवीर, वाहिद, अंजार, उमेश, सोहनवीर, इमामुद्दीन, मुनाफ, नरेंद्र त्यागी ने दावा किया कि तीन किलोमीटर दूर दिए जा रहे अंडरपास को जब तक गांव के पास नहीं खुलवाया जाएगा, तब तक उनका आंदोलन और बेमियादी धरना किसी भी दशा में समाप्त नहीं होगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस