जागरण संवाददाता, हापुड़

अखिल भारतीय प्रधान संघ के पदाधिकारी और सदस्यों की बृहस्पतिवार को बैठक हुई। इसमें ग्राम प्रधानों के खिलाफ दर्ज किए गए मुकदमों पर रोष व्याप्त किया गया। आरोप लगाया गया कि राजनैतिक दवाब के कारण फर्जी मुकदमे दर्ज कराए गए हैं, जिन्हें बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। निर्णय लिया गया कि एक फरवरी को इस मामले में डीएम से मिल कर शिकायत करेंगे।

फ्रीगंज रोड स्थित कार्यालय पर संघ के सदस्यों की बैठक हुई। संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नानक चंद शर्मा ने कहा कि प्रशासन को ग्राम चांदनेर के ग्राम प्रधान पर पशु क्रूरता अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कराया गया है। धनौरा की प्रधान के पति योगेश्वर त्यागी पर मुकदमा दर्ज कराया गया है। यह प्रधानों को डराने का असफल प्रयास है। प्रधान संगठित होकर उत्पीड़न के खिलाफ संघर्ष करेंगे।

उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी को बताया जाएगा कि ग्राम प्रधान आपने गांवों में गोशाला बनाने में क्यों असमर्थ है। पंचायत राज अधिनियम का सम्मान करते हुए ग्राम प्रधान हर योजना एवं कार्य ग्राम सभा की खुली बैठक में पारित कराकर कार्य करने के लिए बाध्य है। लेकिन, अधिकारी प्रधानों पर गोशाला निर्माण तथा सामूहिक आवास के लिए भूमि देने का दबाव बना रहे हैं। इस संबंध में वह केवल मौखिक आदेश कर रहे हैं।

बैठक में संजीव त्यागी, प्रदीप नागर, भीष्म त्यागी, अमरदीप ¨सह, अय्यूब अली, रासिद अली, मतलूब, नेत्रपाल, देवेंद्र शर्मा, महेश गिरि, नवीन चौधरी, निरंजन, हर¨वद्र ¨सह, विजय खरे, मुनेंद्र बाना, संजय तोमर, सचिन चौधरी, अशोक कुमार, मनोज चौधरी, विपिन त्यागी, जौहर अली, जहीर अहमद, अमरनाथ शर्मा, जयभगवान, साहिब अली, संदीप, बंटी आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran