संवाद सहयोगी, गढ़मुक्तेश्वर

खादर क्षेत्र के गांव सैदपुर के ग्रामीणों में तेंदुए के कारण भय का वातावरण बना है। रविवार सुबह जंगल में एक बार फिर तेंदुआ देखा गया। तेंदुए के पैरों के निशान मिलने से ग्रामीणों की ¨चता बढ़ गई है। भोजन की तलाश में गांव की ओर आ रहे तेंदुए ने जंगली जानवरों को भी शिकार बनाना शुरू कर दिया है।

खादर क्षेत्र के गांव सैदपुर गांव में तेंदुए का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। इसके चलते इस क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले ग्रामीणों में भय का वातावरण है। उन्हें अपने साथ-साथ अपने जानवरों की भी ¨चता सताने लगी है। जंगल के किनारे खेतों में तेंदुए के पैरों के निशान मिलने से किसानों की ¨चता बढ़ गई है। ग्रामीण सूर्यास्त के बाद जंगल की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। भोजन की तलाश में तेंदुआ अब गांवों में भी आने लगा है। इस कारण ग्रामीण अब अपने पालतू जानवरों को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था कर रहे हैं। रविवार सुबह एक बार फिर गांव के किसानों को तेंदुआ दिखाई दिया। लोगों ने जंगल में तेंदुए की तलाश की, लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिल सकी है। वन विभाग अधिकारी अरुण कुमार ने बताया कि ग्रामीणों की सूचना पर टीम को भेजा जाता है। रविवार को ऐसी कोई सूचना नहीं मिली है। फिर भी टीम को भेजकर जांच कराई जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप