जागरण संवाददाता, हापुड़ :

गढ़-दिल्ली रोड पर स्थित नगर पालिका की भूमि में शापिग काम्प्लेक्स (व्यवसायिक सेंटर) का निर्माण अब नहीं कराया जाएगा। बजट की कमी के चलते शापिग काम्प्लेक्स अब नहीं बनेगा। हालांकि, इससे पालिका की आय जरूर बढ़ती और शहरवासियों को भी कई प्रकार से लाभ मिलता। लेकिन, निर्माण के लिए बजट न होने के कारण अब इस प्रोजेक्ट को अधर में ही छोड़ दिया गया है।

पालिका की गढ़-दिल्ली रोड पर मोहल्ला आर्य नगर के सामने हजारों गज जमीन खाली पड़ी हुई है। यहां पर नगर पालिका द्वारा वाहन और खराब सामान डाला जाता है। करीब आठ माह पहले इस खाली पड़ी जमीन पर शापिग काम्प्लेक्स बनाने का निर्णय लिया गया था। साथ ही इसका नक्शा भी तैयार कराया गया था। यहां पर करीब 45 दुकानों का निर्माण करने की योजना थी। इसके अलावा व्यापारियों व आम जन के लिए शौचालय, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था आदि भी मिलती।

इस काम्प्लेक्स की मिट्टी की भार धारण क्षमता, स्टील स्ट्रक्चर डिजाइन मय भूकंप रोधी, आर्किटेक्चरल ड्राइंग वर्किंग डिटेल ड्राइग्स फसाड डिजाइन ड्राइंग, 3 डी डिजाइनिग, कार्य की आवश्यकतानुसार ड्राइंग एवं डिजाइन के अनुरूप कार्य के देखरेख आदि के लिए निविदा भी आमंत्रित हुई थीं और कार्य भी प्रगति पर था। व्यापारियों की समस्या का समाधान होता -

इन दिनों शहर के गढ़-दिल्ली रोड पर जमीन का भाव आसमान छू रहा है। ऐसे में यहां दुकानों का निर्माण होने से व्यापारियों की समस्या का समाधान होता। उन्हें सस्ती और बेहतर सुविधाओं वाला बाजार मिलता। इससे लोगों को भी एक ही स्थान पर तमाम सुविधाएं प्राप्त होतीं। रेस्टोरेंट और सिनेमा हाल बनाने की थी योजना -

काम्प्लेक्स के सबसे ऊपरी ओर रेस्टोरेंट और एक सिनेमा हाल भी बनाने की योजना थी। इससे शहर में सस्ते और अच्छे रेस्टोरेंट व सिनेमा हाल की समस्या का सामना लोगों को नहीं करना पड़ता। यह भी नीलामी के माध्यम से किया जाना था। पालिका की आय भी बढ़ती -

शापिग काम्प्लेक्स को बनाने के पीछे पालिका की आय बढ़ाने का इरादा था। नीलामी के माध्यम से दुकानें दी जातीं। इससे पालिका को करोड़ों की आय हो सकती थी। यहां तक कि प्रतिवर्ष किराए के माध्यम से भी पालिका को आय होती। स्वच्छता का दिया जाता संदेश -

इस शापिग काम्प्लेक्स के माध्यम से स्वच्छता का संदेश भी देने की तैयारी थी। पेंटिग के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाता। क्या कहते हैं पालिकाध्यक्ष --

गढ़-दिल्ली रोड पर नगर पालिका की भूमि पर शापिग काम्प्लेक्स के निर्माण को लेकर रणनीति बनाई गई थी लेकिन, कोरोना काल के बाद उत्पन्न हुई स्थिति से पालिका का बजट बिगड़ गया है। इसलिए शहरवासियों के कार्य जैसे सड़क, पानी, स्ट्रीट लाइट और सफाई आदि को प्राथमिकता दी जा रही है। इसलिए अब शापिग काम्प्लेक्स यहां पर नहीं बनाया जाएगा। - प्रफुल्ल सारस्वत, अध्यक्ष, नगर पालिका परिषद

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021