मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, गढ़मुक्तेश्वर: नगर में स्थित एक ढाबे पर ढाबा संचालक के साथ मारपीट कर नकदी छीनने के आरोप में पुलिस ने वादी पर ही फैसला करने का दवाब बनाना शुरू कर दिया है। पीड़ित द्वारा इस संबंध में दी गई तहरीर के बाद भी पुलिस आरोपितों पर कार्रवाई नहीं कर रही है। पुलिस के इस रवैये को लेकर ढाबा संचालक आक्रोशित है।

नगर के दुर्गा कालोनी निवासी सौरभ नगर में ही ढाबा संचालन कर परिवार का पालन पोषण करता है। बुधवार को देर शाम उसके ढाबे पर तीन लोग खाना खाने के लिए आए। खाना खाने के बाद ढाबा संचालक ने रुपये मांगे तो आरोपितों ने गाली-गलौच कर दी। पीड़ित द्वारा विरोध किए जाने पर आरोपितों ने उसे मारपीट कर घायल कर दिया। इस दौरान तीनों आरोपितों ने ढाबा संचालक के गल्ले से दस हजार रुपये लूट लिए। सूचना मिलने पर पहुंचे पुलिसकर्मी ने तीनों आरोपितों को हिरासत में लेकर कोतवाली ले आए। पुलिस ने आरोपितों से लूटी गई रकम बरामद कर ली। बृहस्पतिवार को ढाबा संचालक कोतवाली पहुंचा तो पुलिस आरोपितों पर कार्रवाई करने के बजाय उस पर ही फैसला करने का दवाब बनाने लगी। कोतवाली प्रभारी रविद्र राठी ने बताया कि मारपीट का मामला है। दोनों पक्ष आपस में फैसला कर रहे हैं। पुलिस द्वारा किसी भी प्रकार का दवाब नहीं बनाया गया है। पुलिस क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार शुक्ल ने मामले की जानकारी होने से इन्कार किया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप