जागरण संवाददाता, हमीरपुर : सरीला से अपहृत दस वर्षीय छात्र गुरुवार को बदमाशों के चंगुल से भाग निकला। स्कॉर्पियो सवार बदमाशों ने नशीला पदार्थ सुंघाकर उसे डिक्की में बंद कर दिया था। कानपुर की ओर यमुना पुल से आगे गाड़ी रुकने पर छात्र को होश आया और वह डिक्की खोलकर भाग निकला। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

थानाक्षेत्र बिवांर के ग्राम सायर निवासी दिनेश दीक्षित का दस वर्षीय पुत्र रवि दीक्षित जरिया थाना क्षेत्र के सरीला में स्थित अभिनव बुंदेलखंड पब्लिक आवासीय विद्यालय में कक्षा पांच का छात्र है। रवि के मुताबिक वह छुट्टी लेकर घर आया था। गुरुवार को वह स्कूल के लिए निकला। बिवांर से बस में सवार होकर सरीला पहुंचा और एक पेट्रोल पंप के बाद पास बस से उतरकर बाथरूम करने लगा। इसी बीच स्कॉर्पियो सवार बदमाशों ने उसे कुछ सुंघाकर डिक्की में डाल लिया। कार जब कानपुर की ओर यमुना पुल पर पहुंची तो उसे होश आया। आगे जाम लगा होने के कारण जैसे ही स्कॉर्पियो रुकी वह डिक्की खोलकर भाग निकला और सीधे पुल पर पहुंचा। यहां से गुजर रहे एक ऑटो में सवार हुआ और रानी लक्ष्मीबाई पार्क तक गया। यहां मेरापुर निवासी धर्मेद्र ने उसे रोता देखकर पूछताछ की और अपहरण की बात सुनकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस छात्र को कोतवाली लाई और परिजनों को बुलाकर उनके सिपुर्द कर दिया। छात्र के बड़े भाई विकास दीक्षित ने अपने ताऊ पर आरोप लगाया है। उसका कहना है कि जमीनी विवाद के कारण ताऊ रंजिश मानते हैं। कई बार मारपीट भी कर चुके हैं। कोतवाली एसके सिंह ने बताया कि छात्र का मेडिकल परीक्षण कराया गया है। परिजनों ने जरिया थाने में तहरीर देने की बात कही है। उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप