जागरण संवाददाता, हमीरपुर : रोडवेज बस स्टैंड में शनिवार की दोपहर संविदा कर्मियों ने चक्का जाम कर दिया। संविदा कर्मियों का कहना है कि उनका एआरएम आए दिन उनके साथ अभद्रता करता है और अपनी हिटलरशाही चलाता है। उनके वेतन में भी कटौती करता है। सारा दिन ड्यूटी करने के बाद भी पैसा काटा जाता है। जिससे उनमें काफी आक्रोश है।

हमीरपुर में तैनात एआरएम सुहेल अहमद इस समय विभाग के लिए आफत बने हुए हैं। आएदिन उनके खिलाफ कोई न कोई शिकायतें आती रहती हैं। लेकिन वह अपनी आदतों से बाज नही आ रहे हैं। शनिवार की दोपहर विभाग में तैनात संविदा कर्मियों के वेतन में कटौती करने के मामले से आक्रोशित कर्मचारियों ने चक्का जाम कर दिया। जिससे कई रूटों की बसें नही जा सकीं। कर्मचारियों का कहना है कि एआरएम अपनी हिटलरशाही चलाते हैं और मनमुताबिक काम करते हैं। उन्होने कहा कि यदि इसी तरह से रवैया रहा तो वह बड़ा आंदोलन करेंगें। इस चक्का जाम से काफी लोगों को परेशानियों का भी सामना करना पड़ा। कई स्कूली बसें भी इस जाम का शिकार हुईं। दोपहर के समय बच्चों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। इसके अलावा अन्य कई बार भी इस विभाग में एआरएम को लेकर विवाद होता रहा है। इससे पहले उन्होने स्टेशन मास्टर के साथ भी अभद्रता की थी। जिसने डीएम से शिकायत करके न्याय की गुहार लगाई थी। रोडवेज विभाग के कर्मचारियों में काफी आक्रोश है। उनका कहना है कि एआरएम का ट्रांसफर किया जाए ताकि उन्हें न्याय मिल सके।

Posted By: Jagran