संस, भरुआ सुमेरपुर : बुधवार रात उद्योग नगरी में संचालित फैक्ट्री में ड्यूटी कर रहे गार्ड को किसी ने धक्का मारकर गड्ढे में धकेल दिया। गार्ड रात से लेकर दोपहर तक गड्ढे में बेहोशी की हालत में पड़ा रहा। घर न पहुंचने पर खोजबीन को पहुंचे स्वजन ने गड्ढे से निकालकर उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराकर पुलिस को सूचित किया। हालत गंभीर होने पर गार्ड को कानपुर के हैलट अस्पताल के लिए रेफर किया गया है।

डाक बंगले के पास रहने वाले 55 वर्षीय महेश चंद्र तिवारी उद्योग नगरी में संचालित फैक्ट्री में गार्ड हैं। बुधवार को शाम सात बजे से गुरुवार सुबह सात बजे तक इसकी ड्यूटी थी। सुबह जब ड्यूटी समाप्त होने के बाद यह घर नहीं पहुंचा। तब स्वजन ने खोजबीन शुरू की। स्वजन ने बताया कि वह घर नहीं पहुंचे तब मुख्य गेट पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली गई। जिसमें वह बाहर जाते नजर नहीं आया। फैक्ट्री के अंदर वह एक गड्ढे में बेहोशी की हालत में पड़ा था। उसके सिर में गंभीर चोट थी। परिजन उसको लेकर अस्पताल आए और पुलिस को सूचित किया। उपचार के बाद होश में आए गार्ड ने बताया कि उसे रात में धक्का देकर गिराया गया है। इसके बाद उसे कुछ भी पता नहीं है। पुलिस ने गार्ड का बयान दर्ज किया है। गार्ड के पुत्र विनय कुमार ने आरोप लगाया है कि पिता के ऊपर रात में हमला किया गया है। इसमें फैक्ट्री कर्मी शामिल हैं। इनके सही तरह से होश में आने के बाद मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

Edited By: Jagran