हमीरपुर, जागरण संवाददाता। देशभर में पीएफआइ के कार्यालयों में जारी छापेमारी में बीते दिन लखनऊ से मोइद हाशमी को गिरफ्तार किया गया, जिसका कनेक्शन हमीरपुर से भी सामने आया है। वो यहां पर राठ कस्बे में रहता रहा और कार मैकेनिक का काम करता था। उसकी गिरफ्तारी से राठ कस्बे में चर्चाएं तेज हो गई हैं, उसके पिता सेवानिवृत्त राजस्व कर्मचारी हैैं।

पीएफआई का सदस्य मोइद हाशमी हमीरपुर जिले के राठ कस्बे के फरसौलियाना मोहल्ले का निवासी बताया जा रहा है। वो कई वर्षों पहले कार मिस्त्री का काम करता था। हमीरपुर जिले से मेरठ जाकर वह पीएफआई के पालिटिकल विंग से जुड़ गया। इसके बाद पीएफआई के सदस्य का कार चालक बनकर काम करने लगा।

मेरठ में सीएए व एनआरसी के विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस चौकी व गाड़ी में आग लगाने के मामले में मोईद हाशमी का भी नाम आया था। उसे पकड़ा गया था लेकिन वह उस समय बच निकला था। मुईद हाशमी के पिता अब्दुल मुनीम सेवानिवृत्त राजस्व कर्मी हैं। मुईद का बीते कई वर्षों से अपने परिवार से कोई संपर्क नही था। बुधवार को पीएफआई सदस्य मोईद हाशमी को लखनऊ के केशर बाग से गिरफ्तार किया गया है।

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट