जागरण संवाददाता, हमीरपुर: जिला पोषण समिति एवं कन्वर्जंस विभागों की मासिक समीक्षा बैठक जिलाधिकारी डा. चंद्रभूषण की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित कलाम सभागार में संपन्न हुई। बैठक में गंभीर कुपोषित बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराने तथा कुपोषित बच्चों को सुपोषित किए जाने किए जाने वाले कार्यों में गोहांड विकासखंड की प्रगति खराब मिलने पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित लापरवाह आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सुपरवाइजर पर कार्रवाई के निर्देश दिए। 

बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि कुपोषित बच्चों का नियमित रूप से वजन किया जाए। कुपोषित व अति कुपोषित बच्चों के चिह्नांकन के कार्य में तेजी लाई जाए तथा उन्हें नियमानुसार समय से पोषाहार वितरण सुनिश्चित कराया जाए। पोषण ट्रैकर एप पर विभिन्न गतिविधियों की शत प्रतिशत फीडिंग की जाए। 

उन्होंने कहा कि कुपोषण को समाप्त करने के लिए माइक्रो प्लान बनाकर कार्य किया जाए तथा घर घर जाकर गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को पोषण के प्रति जागरूक किया जाए। जनपद के लाल श्रेणी के बच्चों को पीले श्रेणी में तथा पीली श्रेणी के बच्चों को हरे श्रेणी में लाने का कार्य किया जाए तथा नए कुपोषित बच्चों का भी चिह्नांकन किया जाए। 

डीएम ने कहा कि जनपद की विभिन्न गोशालाओं की दुधारू गायों को कुपोषित बच्चों के परिवारों को सहभागिता योजना के अंतर्गत उपलब्ध कराया जाय। इस मौके पर जिला विकास अधिकारी विकास मिश्रा, सीएमओ डा. रामअवतार, जिला कार्यक्रम अधिकारी शैलेंद्र सिंह, डीएसओ, पशु चिकित्सा अधिकारी, समस्त सीडीपीओ तथा अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट