संवाद सहयोगी, मौदहा : उत्तर प्रदेश संयुक्त बिजली कर्मचारी संघ के तत्वावधान में शुरू की गई हड़ताल से यहां का कुनेहटा फीडर मंगलवार को दूसरे दिन भी बंद रहा। इससे जुड़े दर्जनों गांव की बिजली व्यवस्था चरमरा गई। जिससे किसान खेतों में सिचाई व पलेवा नहीं कर पा रहे हैं। इससे पेयजल भी प्रभावित है। इस हड़ताल के चलते बिजली एसडीओ कार्यालय में ताले पड़े मिले। वहीं एसडीओ सहित पूरा लाइन स्टाफ पावर हाउस परिसर में नारेबाजी करते हुए धरने पर बैठा हुआ है।

जीपीएफ व सीपीएफ में घोटाले से आक्रोशित बिजली कर्मचारियों ने हड़ताल शुरू कर दी थी। जबकि हड़ताल के दूसरे दिन संगठन के मंडल अध्यक्ष अख्तर हुसैन, खण्ड अध्यक्ष इंदल सिंह सहित संजयपाल, धमेंद्र, मानेंद्र, राधाकिशन, अरविद, संजय कुशवाहा, अकील अहमद व महमूद खान आदि स्थानीय पावर हाउस परिसर में कार्य बहिष्कार के साथ धरने पर डटे हुए हैं। एसडीओ राकेश कुमार अपना मोबाइल स्विच आफ किये हैं। जबकि यहां अवर अभियंता के पद पर रहे मनोज सोनी अब प्रोन्नति पाकर एसडीओ बन गये हैं। नये अवर अभियंता राजेश ने कार्य भार सम्भालते हुए बताया कि हडताल होने की वजह से कुनेहटा फीडर में कार्य नहीं हो पा रहा है। बताया बुधवार से उनका संगठन हड़ताल पर चला जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस