संवाद सहयोगी, मौदहा/ राठ : दीवाली के दिन नशे और बिना हेलमेट के शौक ने तीन युवकों की जिंदगी निगल ली। वहीं चार युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों में एक वृद्ध डाक्टर भी है।

दीपावली पर्व पर मौदहा के पढ़ोरी गांव निवासी 35 वर्षीय रघुवीर व उसका 32 वर्षीय भाई बलराम बाइक से बेटी गुड्डी को उसकी ससुराल मिहूना गांव से लेकर लौट रहा था। बाइक चला रहे रघुवीर ने हेलमेट नहीं लगाया था। सिसोलर व टोला गांव के बीच अन्ना मवेशियों से बचने के दौरान एक मवेशी से वे टकरा गए। इससे तीनों घायल हो गए। जिसमें रघुवीर की रास्ते में मौत हो गई। बलराम को जिला अस्पताल रेफर किया गया है।

इसी तरह मुस्करा के बिहूनी खुर्द गांव निवासी 26 वर्षीय विपिन पुत्र परशुराम 28 अक्टूबर को गांव आते वक्त खरेला बसौठ के पास वाहन से टकरा गया। उसने हेलमेट नहीं पहना था। प्राथमिक उपचार के बाद उसे महोबा जिला अस्पताल भेजा गया। जहां से उसे कानपुर भेजा गया। रास्ते में उसकी मौत हो गई। विपिन दिल्ली में रहकर मजदूरी करता था। त्योहार में घर आया था। इसी तरह महोबा के पनवाड़ी से अपने भाई को छोड़कर लौट रहे जरिया के अमूंद गांव निवासी 27 वर्षीय रविंद्र सिंह बाइक चलाते वक्त अंसुतलित हो गए। गिरने से सिर पर चोट लगने से उसकी मौत हो गई। भाई जय सिंह ने बताया कि उसने हेलमेट नहीं पहना था। नशे में लोडर पर बैठा, गिरने से मौत

मुस्करा : बिलगांव निवासी 28 वर्षीय मंगल सिंह अपने रिश्तेदार मनीष के साथ लोडर से उमरिया गांव में ब्याही बहन के यहां गया था। भाई दूज का टीका लगवाने के बाद दोपहर तीन बजे वह नशे की हालत में लोडर के ऊपर बैठकर राठ आ रहा था। राठ जलालपुर मार्ग पर सरसई गांव के पास स्थित बंबी के पास वह चलते लोडर से नीचे जा गिरा। लोग उसे लेकर जब तक अस्पताल पहुंचे, उसकी मौत हो गई थी। ट्रक की टक्कर से युवक घायल

महोबा के कबरई निवासी 40 वर्षीय रमेश दिवाली में सुसराल रीवन गांव आया था। 27 अक्टूबर की शाम छह बजे वह सड़क किनारे खड़ा था, तभी बगल से निकले तेजरफ्तार ट्रक ने उसे टक्कर मार दी। कस्बा निवासी 65 वर्षीय रामायण गुप्ता हाइवे स्थित अपने नए मकान में दीप रखने जा रहे थे, तभी सड़क पर आते ही ट्रक ने टक्कर मार दी। वह जिला अस्पताल में भर्ती हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस