जागरण संवाददाता, हमीरपुर : जिलाधिकारी द्वारा कलेक्ट्रेट संघ के कार्य बहिष्कार करने वाले सभी कर्मियों का वेतन रोकने का आदेश जारी होते ही एक बार फिर से कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ में आक्रोश फैल गया।

संघ के जिलाध्यक्ष जगदीश निगम व जिलामंत्री प्रकाश सौरभ ने कहा कि कलेक्ट्रेट संघ की ओर से संविधान में दी गई व्यवस्थानुसार पूर्व सूचना देते हुए हत्यारोपित की गिरफ्तारी के लिए संघ ने धरना प्रदर्शन किया था। जो पूर्णत: वैद्य है। संघ के जोनल अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह ने कहा कि एक मार्च को मृतक पंकज तिवारी की अंतिम शव यात्रा थी। जिसकी शव यात्रा में शामिल होने के लिए सभी लोग गए थे। शोक सभा के दिन वेतन काट लेना गलत है। इस आदेश के विरोध में गुरूवार को कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन किया गया और फैसला लिया गया कि यदि वेतन रोकने संबंधी आदेश 5 मार्च तक वापस नहीं लिया जाता है तो कलेक्ट्रेट संघ प्रदर्शन करेगा। साथ ही मांग की गई कि डीएम धरना स्थल पर आकर मृतक पंकज तिवारी के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित करें। धरने पर मुख्य रूप से लल्लू सिंह कुशवाहा, प्रमोद कुमार सोनकर, लतीफ अहम्मद खान, आशीष कौशल, रुम्मान, रश्मि सचान, बृजनंदन, रविद्रनाथ बाजपेई, रामपाल कुशवाहा, राजेंद्र श्रीवास्तव, राजकुमार त्रिवेदी, बृजकिशोर प्रजापति, सूर्यकुमार तिवारी, प्रशस्ति तिवारी, कामनी सिंह, अनीता यादव, प्रिया मल्होत्रा, आशुलिपिक संघ से विनय कुमार, तहसील मौदहा से सफी मोहम्मद, शिवमूरत शुक्ला, कोषागार संघ से कौशल कुमार मिश्रा, पेंशनर संघ से श्यामचरण साहू, वाहन चालक संघ से अवनीश कुमार समेत अन्य कर्मी मौजूद रहे।

इसी प्रकार राठ में मिनिस्ट्रियल कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ की तहसील अध्यक्ष सुनीता अहिरवार ने बताया कि हत्यारोपित की गिरफ्तारी को लेकर कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार कर 3 दिन धरना प्रदर्शन किया था। हत्या के आरोपित की गिरफ्तारी के बाद बुधवार को धरना समाप्त किया गया। इस मौके पर इंद्रपाल, महावीर मिश्रा, शिखा, स्वामी प्रसाद, चंद्रप्रकाश, राजेश गौतम, कमल कांत साहू, आदि राजस्व कर्मी मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप