संवाद सहयोगी, मौदहा : जिलाधिकारी डा. चंद्रभूषण त्रिपाठी की अध्यक्षता में जिला स्तरीय संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन तहसील सभागार में किया गया। इस मौके पर कुल 92 शिकायतें प्राप्त हुईं। जिसमें से पांच शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया। सर्वाधिक 37 शिकायतें राजस्व एवं 19 शिकायतें पुलिस विभाग से संबंधित रहीं। इस मौके पर जिलाधिकारी ने शिकायतकर्ताओं से मोबाइल पर बात कर शिकायत निस्तारण की गुणवत्ता का फीडबैक लिया। जिसमें शिकायतकर्ता के निस्तारण से असंतुष्ट मिलने एवं निस्तारण आख्या सही न पाए जाने पर जिलाधिकारी ने संबंधित से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस, आईजीआरएस, मुख्यमंत्री संदर्भ, 1076 के संदर्भ तथा जनप्रतिनिधियों से प्राप्त शिकायतों का निस्तारण किया जाए। शिकायतों का ग्राउंड लेवल पर निस्तारण कर शिकायतकर्ता को संतुष्ट किया जाय। इस मौके पर तहसील परिसर में विभिन्न विभागों द्वारा योजनाओं के प्रचार प्रसार के लिए लगाए गए स्टाकं का जिलाधिकारी ने निरीक्षण कर जरूरी निर्देश दिए। इस दौरान पुलिस अधीक्षक कमलेश दीक्षित, उपजिलाधिकारी मौदहा, सीएमओ डा.एके रावत, पीडी साधना दीक्षित, डीडीओ विकास मिश्रा, डीएसओ रामजतन यादव, बीएसए राकेश कुमार श्रीवास्तव समेत अन्य संबंधित विभागों के जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे। इसी प्रकार सरीला तहसील सभागार में अपर जिलाधिकारी राजेश कुमार यादव की अध्यक्षता में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में कुल 29 फरियादियों ने फरियाद की। मौके पर 6 शिकायतों का निस्तारण हो सका। इस मौके पर एसडीएम खालिद अंजुम, तहसीलदार श्यामनारायण शुक्ल सहित तमाम अधिकारी मौजूद रहे हैं। संस

एडीएम न्यायिक की अध्यक्षता में संपन्न हुआ समाधान दिवस

राठ : तहसील सभागार में अपर जिलाधिकारी न्यायिक की अध्यक्षता में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। इस दौरान 33 में मौके पर सिर्फ 3 शिकायतों का निस्तारण हो सका। समाधान दिवस में सबसे ज्यादा शिकायतें सरकारी आवास, अवैध कब्जा, राशन कार्ड, बिजली आदि की छाईं रही। इस दौरान समाधान दिवस में आईं शिकायतों पर एडीएम न्यायिक ने जल्द निस्तारण करने के निर्देश दिये। इस मौके पर एसडीएम सरीला, तहसीलदार अभिनवचंद्र, एसडीओ विद्युत एसपी मिश्रा सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran