संवाद सहयोगी, राठ : शासन से क्षेत्र में मिनी स्टेडियम के लिए स्वीकृति हो गई है। इसे लेकर शनिवार को एसडीएम सुरेश कुमार ने दो स्थानों पर सरकारी भूमि का निरीक्षण किया।

कस्बे के खेल प्रेमियों के लिए शासन ने मिनी स्टेडियम की एक और सौगात दी है। जिसके लिए एसडीएम को तीन एकड़ भूमि की तलाश करने का आदेश दिया गया है। अब खेल प्रेमियों को स्कूल, कालेजों के मैदान पर खेल खेलना नहीं पड़ेगा। स्टेडियम न होने से खेल की प्रतिभाएं निखरकर सामने नहीं आ पाती थी। वहीं खेलकूद में रुचि रखने वाले यहां नियमित अभ्यास कर सकेंगे। हालांकि लोगों को इसके निर्माण का इंतजार है।

कस्बे वासियों को एक मिनी स्टेडियम की सौगात करीब एक दशक पहले भी मिल चुकी है। उरई मार्ग नवोदय विद्यालय के सामने तत्कालीन सांसद राजनारायण के प्रयास से मिनी स्टेडियम की नींव रखी और बाउंड्रीवॉल बनने के बाद निर्माण कार्य भी कराया गया था, लेकिन रखरखाव के अभाव में स्टेडियम झाड़ियों में छिप गया है। एसडीएम सुरेश कुमार ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार मिनी स्टेडियम को तीन एकड़ भूमि की आवश्यकता है। जिसके लिए औंता मौजा एवं स्यावरी मौजा में भूमि का निरीक्षण किया गया है। स्यावरी मौजा की भूमि मिनी स्टेडियम के हिसाब से पर्याप्त नहीं है। वहीं उन्होंने पूर्व में बनाए गए स्टेडियम के बारे में जानकारी न होने की बात कही। कहा कि निरीक्षण कर वहां साफ सफाई कराई जाएगी।

उन्होंने बताया कि क्षेत्र के टोला गांव के पास मिनी स्टेडियम के लिए मानक के अनुसार पर्याप्त सरकारी जगह है। जिसका प्रस्ताव जिलाधिकारी को भेजा जाएगा। कहा कि टोला सहित क्षेत्र के आधा दर्जन गांव के खिलाड़ी यहां, क्रिकेट, कबड्डी आदि खेलने आते हैं। इस गांव के युवा खिलाड़ी धर्मेन्द्र गुप्ता ने कुछ समय पहले डीएम हमीरपुर को गांव में मिनी स्टेडियम खुलवाए जाने की मांग की थी।

Posted By: Jagran