जागरण संवाददाता, हमीरपुर : 2018 का पहला दिन सोमवार मौसम में कुछ राहत लेकर आया। सुबह कोहरे के साथ कड़ाके की ठंड पड़ी। तड़के चार बजे से लेकर सुबह के 10 बजे तक कोहरा छाया रहा। इसके बाद जैसे-जैसे दोपहर होती गई मौसम ने कुछ राहत ली। दोपहर एक बजे के करीब सूर्य देव ने दर्शन दिए। इससे लोगों को भरपूर राहत महसूस की। सभी अपने घरों से निकलकर बाजार पहुंचे और खरीदारी की। वहीं महिलाओं ने घर की छतों पर गुनगुनी धूप का आनंद लिया। इसके अलावा स्कूली बच्चों ने छुट्टी का मजा लिया।

सोमवार की भोर कोहरा होने की वजह से वाहनों को परेशानी उठानी पड़ी। बेतवा पुल और यमुना पुल पर सबसे ज्यादा कोहरा देखने को मिला। भारी वाहन, बस व कार रेंगते हुए आगे बढ़ रहे थे। कोहरा इतना घना था कि बार-बार वाहनों के शीशे को साफ करना पड़ा। इसके अलावा वाहन हेड लाइट जलाकर चलते दिखाई दिए। सुबह छह बजे के आसपास कोहरा इतना घना हो गया कि ²श्यता 50 मीटर से करीब-करीब शून्य पर आ गई। मौसम विभाग के जानकार ने बताया कि घने कोहरे व पछुआ हवाओं के कारण सर्दी और बढ़ी है। शीत लहर के चलते लोग घरों से बाहर नहीं आ रहे। वहीं और सुबह-सुबह यहां का न्यूनतम तापमान 5.9 डिग्री सेल्सियस रहा।

यातायात रहा प्रभावित

भरुआ सुमेरपुर व मौदहा स्थित रेलवे स्टेशन पर कोहरे के कारण ट्रेनें लेट रहीं। वहां मौजूद यात्रियों को ठंड में घंटों इंतजार करना पड़ा। वहीं बसों में फाग लाइटें न होने की वजह से कोहरे में रेंगती नजर आईं।

कई स्थानों पर जलते मिले अलाव

शहर के मुख्य चौराहों पर अलाव की व्यवस्था नगर पालिका द्वारा कराई गई। अस्पताल परिसर, नगर पालिका कार्यालय, बस स्टॉप पर अलाव जलाए गए। इससे लोगों ने राहत की सांस ली। वहीं दोपहर बाद निकली धूप ने सभी को राहत का एहसास कराया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस