जागरण संवाददाता, हमीरपुर : कुर्बानी का प्रतीक ईद उल अजहा सोमवार को पूरी अकीदत के साथ मनाया गया। मुख्यालय से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक लोगों ने इबादतगाहों में नमाज पढ़ी। इसके बाद घर पहुंच कर कुर्बानी दी। मुख्यालय की ईदगाह में सुबह आठ बजे बकरीद की नमाज पेशइमाम हाफिज अब्दुल कुरैशी ने पढ़ाई वहीं साढ़े आठ बजे खालेपुरा स्थित मस्जिद में कारी इफ्तखार रजा खां नूरी ने नमाज पढ़ाई। सुबह से ही नमाजी ईदगाह की ओर आते दिखाई देने लगे। नमाज से थोड़ा पहले तक ईदगाह का अंदरूनी हिस्सा भर चुका था। मौलाना ने नमाज के बाद मुल्क की खुशहाली और तरक्की के लिए दुआ कराई। सुन्नतें रसूल पर चलने की हिदायत दी। इसके बाद मौलाना ने खुत्बा पढ़ा। खुत्बा खत्म होने के बाद लोग कुर्बानी देने के लिए घर की ओर चले गए।

नमाज के पहले उलेमाओं ने तकरीर में रसूल अल्लाह सल्ललाहु अलैहे वसल्लम के बारे में बताया। लोगों को उनकी सुन्नतों पर अमल करने की ताकीद की। कुर्बानी के पर्व बकरीद की फजीलत के बारे में विस्तार से बताया। वहीं ईदगाह के बाहर बने पंडाल में एसडीएम सदर राजेश कुमार चौरसिया, अति. एसडीएम अशोक यादव व सीओ सदर अनुराग सिंह, सभासद प्रतिनिधि राजेश सिंह आदि ने लोगों को गले मिलकर बकरीद की बधाई दी। त्योहार के मद्देनजर सुरक्षा-व्यवस्था के खास इंतजाम थे। ईदगाह के स्टेट हाईवे में होने के कारण नमाजियों ने सड़क पर बैठकर नमाज अदा की। जिसके चलते करीब दो घंटे के लिए आवागमन बंद कर दिया गया। स्टेट हाईवे को बैरीकेड कर दिया गया था और वहां पर पुलिस के जवान लगा दिए गए थे। शांतिपूर्ण माहौल में बकरीद की नमाज अदा हुई। वहीं शहर कोतवाल केपी सिंह, महिला दारोगा संगीता यादव, यातायात प्रभारी अरविद कुमार मिश्रा मुस्तैदी के साथ सुरक्षा व्यवस्था व यातायात व्यवस्था संभालते नजर आए। वहीं जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश व एसपी हेमराज मीणा भी ईदगाह की व्यवस्थाओं का जायजा लेने पहुंचे। बच्चों ने लिया मेले का मजा

ईदगाह के पास लगे मेले का बच्चों ने जमकर मजा उठाया। इस मौके पर बच्चे कुर्ता पायजाता तथा नए पारिधानों से सजे धजे दिखाई दे रहे थे। नमाज अदा होने के बाद बच्चों ने खिलौनों की जमकर खरीदारी की। इसके साथ ही उन्होंनें फास्ट फूड के व्यजंनों का भी मजा लिया। मेला दोपहर तक लगा रहा। दिखा नमाज अदा करने का जज्बा

अपने अब्बू के साथ उनके बच्चे भी ईदगाह में नमाज अदा करने के लिए पहुंचे। सुबह से ही बच्चों में बकरीद के पर्व को लेकर खासा उत्साह देखने को मिला। वह अपने अब्बू के साथ ईदगाह पहुंचे और उन्हें देखकर उसी तरीके से नमाज भी अदा की। बकरीद की नमाज के बाद कासिम, वासिम, मूसा व अहमद समेत कई बच्चों ने एक दूसरे को बकरीद की बधाई दी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप