जागरण संवाददाता, हमीरपुर : एसपी के स्टेनो पर उत्पीड़न का आरोप लगाकर जिला अपराध रिकार्ड ब्यूरो (डीसीआरबी) की महिला सिपाही ने आलआउट (मच्छर मारने का लिक्विड) पी लिया। उसे हाल ही में चिकासी थाने स्थानांतरित किया गया था। उसका आरोप है कि साथ की कई महिला सिपाहियों का तबादला रोक दिया गया जबकि सिर्फ उसे ही प्रताड़ित किया जा रहा है। जिला अस्पताल में हालत सुधरने पर उसे घर भेजा गया है। पीड़िता ने मिशन शक्ति को लेकर भी सवाल खड़े कर वीडियो वायरल किया है। हालांकि दैनिक जागरण वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। एएसपी ने सीओ सदर को जांच सौंपी है।

मूलत: जनपद मथुरा निवासी सिपाही प्रिया चौधरी यहां डीसीआरबी में तैनात है। वह मुख्यालय में किराये के मकान में रहती हैं। मंगलवार रात उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान उसने एसपी के स्टेनो पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके बहकावे में डीसीआरबी प्रभारी की रिपोर्ट पर चिकासी थाने में तबादला कर दिया गया जबकि हाल ही में अन्य स्थानांतरित की गई महिला सिपाहियों का तबादला रोक दिया गया। स्टेनो की पत्नी की ड्यूटी भी नहीं लगाई जाती है। एसपी व एएसपी से मिलने भी नहीं दिया जाता। ऐसी जिदगी से तंग आ गई हूं। एएसपी अनूप कुमार ने बताया कि मामले की जांच सीओ सदर को दी गई है। स्टेनो की पत्नी की भी ड्यूटी लगाई गई है। स्थानांतरण बोर्ड की सहमति से किया और रोका जाता है। जनपदीय बोर्ड के समक्ष महिला सिपाही की शिकायतें होने के कारण स्थानांतरण नहीं रोका गया। बताया कि उक्त सिपाही का कासगंज से प्रशासनिक आधार पर जिले में स्थानांतरण किया गया था।

Edited By: Jagran