जागरण संवाददाता, हमीरपुर : चिलचिलाती धूप व गर्म हवाओं ने लोगों को बेहाल कर दिया। सूरज के तेवर तीखे होने से हवा का मिजाज गर्म रहा। इसकी वजह से ज्यादातर लोग घरों में दुबके रहे। वहीं जरूरतमंद लोग ही पूरे शरीर को ढक कर बाहर निकले। तेज धूप और गर्म हवा के कारण बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। सूरज के सख्त तेवरों के चलते लोगों को गर्मी का एहसास करवाया। सबसे ज्यादा दिक्कत स्कूली बच्चों को हुई। गुरुवार को अधिकतम तापमान 42 डिग्री व न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। तापमान बदलने से मौसमी बीमारियां भी बढ़ गई है। घर का कोई न कोई सदस्य डायरिया, पीलिया, पेट दर्द जैसी बीमारियों से पीड़ित होकर अस्पतालों में पहुंच रहे हैं। सड़कों पर घूम रहे मवेशी भी दोपहर में छाया की तलाश में रहे।

गर्मी के कारण होने वाली बीमारियां

गर्मी का मौसम शुरू होते ही बीमारियों का प्रकोप बढ़ जाता है, अगर आपने थोड़ी सी लापरवाही कर दी तो लू, हीट स्ट्रोक, पेट की समस्या, अतिसार, आदि कई बीमारियों की चपेट में आसानी आ सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि गर्मी के मौसम में इन बीमारियों से बचने के तरीके आजमायें जायें। आपकी थोड़ी सी सावधानी इन बीमारियों से बचाव कर सकती है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस