संवाद सहयोगी, सरीला (हमीरपुर) : कक्षा छह की छात्रा ने रविवार दोपहर आग लगाकर जान दे दी। पिता बेटी के मानसिक परेशान होने की बात बता रहे हैं, लेकिन मोहल्ले में विद्यालय में मंगवाई गाइड न लाकर देने और शिक्षक की डांट को लेकर छात्रा के जान देने की चर्चा है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

जलालपुर थानाक्षेत्र के धौहल गांव निवासी प्रेमप्रकाश प्रजापति की 13 वर्षीय पुत्री रोशनी रविवार दोपहर एक बजे घर में अकेली थी। इस दौरान उसने मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के दौरान छात्रा के माता-पिता खेतों पर चारा लेने गए थे। घटना की जानकारी पाकर छात्रा के माता-पिता घर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस को घटनास्थल पर एकत्र लोगों ने बताया कि विद्यालय में छात्रा से कोई गाइड मंगवाई गई थी, उसने पिता से कहा था लेकिन दो-तीन दिन बाद उन्होंने गाइड नहीं लाकर दी। विद्यालय में इसे लेकर शिक्षक ने उसे डांटा था, इससे वह नाराज थी। इधर छात्रा के पिता ने बताया कि रोशनी गांव स्थित हीरानंद इंटर कालेज में कक्षा 6 की छात्रा थी। वह मानसिक रूप से परेशान रहती थी। प्रभारी थानाध्यक्ष एसआइ विनय कुमार ¨सह ने बताया कि छात्रा के पिता ने उसके मानसिक परेशान होने की बात कही है जबकि मोहल्ले में गाइड न लाने को लेकर छात्रा के जान देने की चर्चा है। शिक्षक की डांटने की बात भी सामने आई है। शव को पीएम के लिए भेजा गया है। मामले की जांच की जा रही है, सामने आए तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। इधर विद्यालय प्रबंधक शालिग्राम मिश्रा ने आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि रविवार होने के बाद भी शिक्षकों को बुलाकर जानकारी की है। शिक्षकों ने छात्रा को डांटने की बात से इन्कार किया है।

Posted By: Jagran