गोरखपुर, जेएनएन। CM Yogi Adityanath Janta Darbar: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगभग दो दिन के गोरखपुर के दौरे पर हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शुक्रवार को अपनी नियमित दिनचर्या के साथ जनता का भी ध्यान रखा।

गोरक्षपीठ के प्रमुख मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को तड़के पूजा-पाठ के बाद सीधा गौ-शाला का रूख किया। जहां पर उन्होंने इंतजार कर रहे सभी गाय तथा गौ वंश को हरा चारा और गुड़ भी खिलाया। काफी देर तक इनको दुलारने के बाद उन्होंने इनकी सेवा में लगे लोगों से इनके बारे में जानकारी भी प्राप्त की।

जनता दर्शन

गौ सेवा के बाद मुख्यमंत्री गोरखनाथ मंदिर प्रांगण में पहुंचे। जहां पर उन्होंने सौ से अधिक लोगों की समयस्या को सुना और अधिकारियों की उनकी समस्या का निराकरण करने का भी निर्देश दिया। उन्होंने इस दौरान सभी लोगों के प्रार्थना पत्र को लिया। कई की समस्या का निराकरण तो फोन पर ही कर दिया जबकि अधिकांश के प्रार्थना पत्र को विभिन्न विभागों में भेजने का निर्देश दिया। उनके जनता दर्शन में हमेशा की तरह ही आज भी काफी भीड़ जुटी थी। आज सीएम योगी आदित्यनाथ के जनता दर्शन का स्थल बदला गया। मुख्यमंत्री का जनता दर्शन कार्यक्रम अब तक जनता दर्शन हिन्दू सेवाश्रम भवन व यात्री निवास में होता था। आज जनता दर्शन दिग्विजयनाथ सभागार के परिसर में हुआ।

बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों का हवाई निरीक्षण कर लखनऊ होंगे रवाना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों का हवाई निरीक्षण करेंगे। महाराणा प्रताप पालिटेक्निक परिसर के हेलीपैड से राजकीय हेलीकाप्टर से लखनऊ के लिए रवाना होंगे और रास्ते में गोरखपुर, संतकबीरनगर, बस्ती, अंबेडकरनगर, गोंडा, अयोध्या और बाराबंकी के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण करेंगे। मुख्यमंत्री के निरीक्षण को देखते हुए प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।

गोरखपुर में पिछले कुछ दिनों से खतरे के निशान से ऊपर बह रही सरयू एवं रोहिन नदियों का जलस्तर खतरे के बिन्दु से नीचे आ चुका है। गुरुवार की शाम सरयू, राप्ती व रोहिन तीनों नदियों के जलस्तर में कमी दर्ज की गई है। जिले में करीब 46 गांव प्रभावित हैं। इनमें से 41 गोला तहसील में जबकि पांच खजनी तहसील के गांव हैं। इन गांवों में आवागमन के लिए 40 नाव लगाई गई है।

Edited By: Dharmendra Pandey