गोरखपुर, जागरण संवाददाता। नेपाल बार्डर पर चौकस नजर रखने वाले एसएसबी के श्वान लुम्बर्ट व योगा क्षेत्रक खोजी श्वान प्रतियोगिता में भी अपना हुनर दिखा रहे हैं। प्रतियोगिता में भाग लेने वाला योगा की मदद से हाल ही में एसएसबी ने आठ करोड़ से अधिक के मादक पदार्थ पकड़ चुका है। लुम्बर्ट की मदद से सिद्धार्थनगर पुलिस हत्या की सनसनीखेज घटना में शामिल दो बदमाशों को पकड़ चुकी है।

सिद्धार्थनगर के अलीगढवा पोस्‍ट पर तैनात है लुंबर्ट

लुम्बर्ट (जर्मन शेफ़र्ड नस्ल का श्वान)एसएसबी के 43वीं वाहिनी सिद्धार्थनगर के अली गढ़वा पोस्ट पर तैनात है।16 जून 2021 को लुम्बर्ट की मदद से सिद्धार्थनगर पुलिस ने सात वर्षीय बच्ची की हत्या करने के आरोपित अकबाल अहमद को छह घंटे में गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश किया था। तत्‍कालीन एसपी सिद्धार्थनगर ने सराहनीय कार्य के लिए लुम्बर्ट को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया था।

पूर्व ब्‍लाक प्रमुख के भाई की हत्‍या का कराया था पर्दाफाश

इसके बाद सात अक्टूबर को चिल्हिया थाना क्षेत्र में पूर्व ब्लाक प्रमुख सफ़िउल्लाह के भाई कमरुजमा की मस्जिद के अंदर गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में भी लुम्बर्ट की मदद से पुलिस ने अभियुक्त को पकड़ा था।

एसएसबी की नौवीं बटालियन में तैना है योगा

बलरामपुर स्थित एसएसबी की नौवी बटालियन में तैनात योगा (लेब्राडोर नस्ल का श्वान है )छह फ़रवरी 2021 को योगा की मदद से नेपाल बार्डर पर आठ करोड़ रुपये कीमत का मादक पदार्थ पकड़ा गया था।योगा के हैंडलर अतेंद्र कुमार शर्मा और लुम्बर्ट के हैंडलर परमानंद बताते हैं कि अपराधियों व तस्करों का इनकी नजर से बचना आसान नहीं है।

बेटों ने मां को घर से निकाला, पुलिस ने कराया समझौता

गुलरिहा क्षेत्र के भटहट में रहने वाले दो बेटों ने 80 वर्षीय बुजुर्ग मां को घर से निकाल दिया।जिसके बाद से वह कस्बे में स्थित अपने मायके चली गईं। मंगलवार को उन्होंने चौकी पर पहुंचकर बेटों के खिलाफ तहरीर दी।पुलिस के समझाने पर बेटे सुरक्षित तरीके से रखने का आश्वासन देकर घर ले गए। चौकी प्रभारी शैलेंद्र कुमार मिश्र ने बताया कि मां की सहमति से लिखित समझौता कराया गया है जिसमें दोनों बेटा हर रविवार को चौकी पर पहुंचकर अपनी मां को खुश रखने की सूचना देंगे।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi