गोरखपुर, जेएनएन। मंडलायुक्त जयंत नार्लिकर ने खाद्य विभाग के सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि किसानों से गेहूं खरीद के 72 घंटे के भीतर भुगतान कर दिया जाए। इसके लिए पर्याप्त धनराशि की व्यवस्था भी कर ली जाए। मंडलायुक्त आयुक्त सभागार में गेहूं खरीद की समीक्षा कर रहे थे।

  मंडलायुक्त ने क्रय एजेंसियों को निर्देश दिया कि समय से सभी क्रय केंद्र खोले जाएं। मंडल में जिलाधिकारियों ने अब तक 462 क्रय केंद्रों को अनुमोदन प्रदान किया गया है। उन्होंने कहा कि हर केंद्र पर किसानों के लिए छाया, पानी, बैठने की उचित व्यवस्था की जाए। कोरोना को देखते हुए सैनिटाइजर, साबुन, पानी, पल्स आक्सीमीटर भी रखा जाए। क्रय केंद्र पर हर तरह की सूचना चस्पा की जाए। गेहूं की तौल सही ढंग से हो। प्रयास किया जाए कि किसान गेहूं सीधे क्रय केंद्र पर ही बेचें। मंडलायुक्त ने चेताया कि किसी भी केंद्र पर किसी तरह की गड़बड़ी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसानों का पंजीकरण से संबंधित प्रक्रिया पूरी कर ली जाए। गेहूं का मूल्य एवं संबद्ध गांवों के नाम से जुड़ी सूचना केंद्र के बाहर चस्पा की जाए। उन्होंने कहा कि किसान जब तक क्रय केंद्र पर आते रहें, तबतक उनसे गेहूं की खरीद की जाए। बैठक में संभागीय खाद्य नियंत्रक पवन अग्रवाल एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

चारो जिलों में स्थापित किए गए कंट्रोल रूम

मंडलायुक्त ने बताया कि चारो जिलों में किसानों की सुविधा के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किए गए हैं। गोरखपुर आयुक्त कार्यालय में फोन नंबर 0551-2343872, मोबाइल नंबर 9519699765, सम्भागीय खाद्य नियंत्रक कार्यालय में फोन नंबर 0551-2230046, जिला खाद्य विपणन अधिकारी कार्यालय, गोरखपुर में 0551-2230046, जिला खाद्य विपणन अधिकारी कार्यालय, महराजगंज में 7839565010, जिला खाद्य विपणन अधिकारी कार्यालय, देवरिया में 05568-221201, जिला खाद्य विपणन अधिकारी कार्यालय, कुशीनगर में 7839565011 पर संपर्क किया जा सकता है।

Edited By: Satish Chand Shukla