गोरखपुर, जेएनएन। कोरोना की चेन तोड़ने के लिए लोगों का घर में रहना जरूरी है। लोग घर में रहे इसके लिए पुलिस और जिला प्रशासन घर-घर राशन और सब्जियां पहुंचवा रहा है। रविवार को शहर के प्रमुख हिस्सों में सब्जियों के ठेले नजर आए, लेकिन मौके का फायदा उठाकर कई ठेले वालों ने प्रशासन की ओर से तय रेट लिस्ट से दोगुने में सब्जियां बेची। कई लोगों ने प्रशासन से इसकी शिकायत भी की है।

मोहल्‍ले, गलियों में सब्‍जी के नाम पर लूट

शहर के बाहरी हिस्से में लोग अब भी सब्जियों की किल्लत से परेशान हैं। न तो वहां प्रशासन की ओर से उपलब्ध कराए गए वाहन ही पहुंच पा रहे हैं और न ही ठेले वाले वहां जाने में दिलचस्पी दिखा रहे हैं। पैडलेगंज के दिलीप कुमार ने बताया कि मोहल्ले के अंदर जो ठेले वाले आ रहे हैं वह आलू 40, प्याज 60, गोभी 60, हरी मिर्च 80 तथा बैगन 60 रुपये किलो बेच रहे है। कोई भी सरकारी रेट लिस्ट से सामान नहीं दे रहा है। रेलवे विहार कॉलोनी की जानकी श्रीवास्तव ने बताया कि ऊंची कीमत पर सब्जियां बचने वालों पर प्रशासन अंकुश नहीं लगा पा रहा है। परवल 100 और भिंडी 80 रुपये किलो खरीदनी पड़ी। गोरखनाथ की शांति देवी ने बताया कि प्रशासन ने सब्जी विक्रेताओं को परमिट दिया है वो वहां ज्यादा रेट मांग रहे है, ऐसे लोगों पर अंकुश लगना चाहिए।

सब्जी    थोक में कीमत किलो में    फुटकर का रेट    बिका

आलू लाल    19  रुपये                     25                      40

आलू सफेद         17                               24                       32

प्याज (बंगाल)     21                              30                        35

प्याज (नासिक)  24                               35                       42

लहसुन              80                               95                       160  

लौकी                15                               21                        40

परवल               45 से 55                     70                        100

भिंडी                 35                                45                         70

हरी मिर्च            28                                45                         80

बैगन               14                                 22                         48

टमाटर             20                                  30                         50

करेला             40                                  50                         80

अदरक           65                                   85                        160

खीरा              12                                  18                         40

बीन्स             20                                  30                          80

अधिक मूल्य पर सामान बेचा तो होगी कार्रवाई

उधर, जिलाधिकारी ने सभी दुकानदारों को चेतावनी देते हुए कहा है कि किसी भी सूरत में सामान का अधिक मूल्य ना लिया जाए। साथ ही सामान की जमाखोरी भी नहीं होनी चाहिए। ऐसा करते पाया गया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिले के विभिन्न क्षेत्रों में फूड सप्लाई ऑफिसर द्वारा खाद्य पदार्थों की होम डिलीवरी पर पैनी नजर रखी जा रही है। ऑफिसर व्यापारियों की डायरी में लिखे आमजन के मोबाइल नंबर पर फोन कर फीडबैक भी ले रहे हैं।

खाद्य पदार्थों का संग्रह ना करें: डीएम

जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पाण्डियन ने लोगों से अपील की है कि वे खाद्य सामग्रियों का संग्रह ना करें। इसकी पर्याप्त उपलब्धता है। जिला प्रशासन जरूरी सामग्रियों की आपूर्ति में कमी नहीं आने देगा। उन्होंने कहा कि राशन, सब्जी एवं दूध होम डिलीवरी के माध्यम से घर तक पहुंचाया जा रहा है। आवश्यकता अनुसार ही लोग ऑर्डर करें। उन्होंने अपील की कि लोग लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करें और अपने घरों में ही रहें। जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा सके। 

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस