गोरखपुर, जेएनएन। कानपुर में सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों के कातिल विकास दुबे के नेपाल भागने की आशंका को देखते हुए गोरखपुर जोन से लगने वाली पड़ोसी देश नेपाल की सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है। सीमाई इलाके में उसका पोस्टर भी लगाया जा रहा है। ताकि सीमा क्षेत्र में दिखाई देने पर उसे पहचाना जा सके। एडीजी जोन दावा शेरपा ने सीमावर्ती जिलों के पुलिस कप्तानों के साथ ही सीमा की सुरक्षा में तैनात सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) को भी सतर्क करने का निर्देश दिया है। विकास की गिरफ्तारी के लिए यूपी पुलिस ने नेपाल पुलिस से भी सहयोग मांगा है।

नेपाल भागने की है आशंका, एडीजी ने चौकसी बढ़ाने का दिया निर्देश

कानपुर पुलिस और एसटीएफ की टीम सरगर्मी से विकास दुबे की तलाश कर रही है। इस बीच उसके नेपाल भागने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि लखीमपुर खीरी जिले से लगने वाली सीमा से उसके नेपाल भागने की आशंका अधिक है। फिर भी गोरखपुर जोन से लगने वाली सीमा पर एहतियातन चौकसी बढ़ा दी गई है। जोन के छह जिलों कुशीनगर, महराजगंज, सिद्धार्थनगर, बहराइच, बलरामपुर और श्रावस्ती की सीमा नेपाल से लगती है।

पगडंडी रास्तों को लेकर बरती जा रही विशेष चौकसी

दोनों देशों के सीमावर्ती गांवों के लोगों ने रोजमर्रा की आवाजाही के लिए अपनी सुविधा के अनुसार पगडंडी रास्ते बना रखे हैं। आमतौर पर इन रास्तों पर सुरक्षा का अलग से इंतजाम नहीं रहता। एसएसबी का गश्ती दल ही इन रास्तों पर नजर रखता है। विकास दुबे के नेपाल भागने की आशंका को देखते हुए पगडंडी रास्तों को लेकर खासतौर से चौकसी बरती जा रही है। हल्का सिपाहियों को पगडंडी रास्तों से आने-जाने पर कड़ी नजर रखने का निर्देश दिया गया है। एलआइयू को सीमाई इलाके में सक्रिय कर दिया गया है।

ग्रामीणों का भी लिया जा रहा सहयोग

विकास दुबे पर नजर रखने में सीमाई क्षेत्र में स्थित गांवों के लोगों का भी सहयोग लिया जा रहा है। फरार हिस्ट्रीशीटर की तस्वीर, ग्रामीणों को दिखाकर पुलिस लोगों से उससे मिलते-जुलते किसी व्यक्ति के दिखने पर तत्काल सूचना देने की अपील कर रही है। सीमाई क्षेत्र में तैनात नेपाल पुलिस को भी उसकी तस्वीर उपलब्ध कराकर उसकी गिरफ्तारी में सहयोग मांगा गया है।

विकास दुबे के नेपाल भागने की आशंका को देखते हुए सीमा पर चौकसी बढ़ाई गई है। एसएसबी से तालमेल बिठाकर पुलिस सीमा पर लगातार गश्त कर रही है। जोन की सीमा से नेपाल भागने की कोशिश में कातिल का पकड़ा जाना तय है। - दावा शेरपा, एडीजी।  

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस