गोरखपुर, उमेश पाठक। UP Assembly Election 2022: चुनाव आयोग के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए वर्चुअल के साथ टोलियों में प्रचार कर रही बहुजन समाज पार्टी ने नई रणनीति के साथ मैदान में है। पार्टी कार्यकर्ता विरोध के बजाए अपनी सरकार की विशेषताएं गिनाकर मतदाताओं को सुशासन का अर्थ समझा रहे हैं। इसके लिए पार्टी की ओर बसपा सरकार के चारो कार्यकाल के दौरान किए गए कार्यों और उपलब्धियों की पुस्तिका और पंफलेट बनाकर जिलों में भेजे गए हैैं और कार्यकता इन्हें लेकर संपर्क कर रहे हैैं। वह किसी भी सरकार पर हमलावर न होकर लोगों को बता रहे हैं कि बसपा सरकार सभी वर्गों के लिए काम करती है।

बसपा सरकार के चारों कार्यकाल की उपलब्धियों की बनाई गई पुस्तिका

पुस्तिका में बसपा शासनकाल में आधारभूत संरचना, शिक्षा, चिकित्सा, कला, साहित्य, रोजगार के क्षेत्र में किए गए कार्यों की सूची है तो बैकलाग की रिक्तियों को भरने से लेकर सामान्य वर्ग के लिए रिक्तियां निकालने का भी जिक्र किया जा रहा है। कार्यकर्ता उपलब्धियों को बेहतर तरीके से बता सकें, इसके लिए जिलाध्यक्ष की अध्यक्षता में बैठक कर विधानसभा प्रभारियों को हर बिंदु पर विस्तार से जानकारी दी जा रही है। विधानसभा प्रभारी इसे सेक्टर और बूथ तक पहुंचा रहे हैैं, जहां कार्यकर्ता घर-घर जाकर सरकार की ओर से किए गए कार्यों की याद दिला रहे हैं।

पंफलेट से भी गिना रहे उपलब्धियां, बता रहे अपनी सरकार का सुशासन

इस रणनीति में काडर वोट भी शामिल है। उन्हें बताया जा रहा है कि कैसे महापुरुषों को सम्मान देते हुए उनके नाम पर योजनाएं चलाई गईं, जिलों के नाम रखने गए। इसके साथ यह जरूर बताया जा रहा है कि 2012 में आई सपा सरकार ने कितने जिलों और योजनाओं के नाम बदल दिए। लोगों को बसपा शासनकाल में कानून व्यवस्था की सख्ती इस बात से याद दिलाई जा रही है कि तब अधिकारियों की मनमानी भी नहीं चलती थी। उपलब्धियों के बीच वर्तमान सरकार को महंगाई व बेरोजगारी के मुद्दे पर घेरने का प्रयास भी किया जा रहा है।

बसपा कार्यकर्ता चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुसार घर-घर जाकर जनसंपर्क कर रहे हैं। हमारे पास बताने के लिए बहुत कुछ है। हम अपनी सरकार की उपलब्धियों को बता रहे हैं। बुकलेट के माध्यम से लोगों तक संदेश पहुंचाते हुए समर्थन मांग रहे हैैं। - संतोष कुमार जिज्ञासु, जिलाध्यक्ष बसपा।

Edited By: Pradeep Srivastava