गोरखपुर, जेएनएन। कोरोना संक्रमण के दौरान एक दिन में 36.36 लाख पौधारोपण वन व अन्य संबंधित विभागों के लिए चुनौती सामान्य नहीं है। इसके फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन व सुरक्षा के अन्य उपायों को ध्यान रखना भी बड़ी जिम्मेदारी होगी। वन विभाग इसकी तैयारी में जुटा है। प्रत्येक ग्रामसभा में 200 मजदूर पौधारोपण की कमान संभालेंगे। इस तरह से जिले के 1352 ग्राम पंचायतों में कुल 2.70 लाख मजदूर लगेंगे।

पौधारोपण को लेकर अभी तिथि भले न घोषित हो, पर वन विभाग इसे लेकर अभी से तैयारी में जुटा है। इस साल भी एक दिन में ही पौधरोपण की तैयारी की जा रही है। पहले दो से तीन माह के बीच बड़े पैमाने पर पौधारोपण होना था। अचानक एक ही दिन में पौधारोपण होने से करीब सौ गुना अधिक मजदूर लगेंगे। इस लिहाज से वनविभाग 2.70 लाख मजदूरों को लगा रहा है। वन विभाग द्वारा 15.35 लाख पौधे रोपित किये जाने हैं। इसके लिए प्रत्येक रेंज में गड्ढे खोद लिए गए हैं। वन विभाग के अलावा अन्य विभागों को 21.01 लाख पौधे रोपने की जिम्मेदारी दी गई है। इसके संबंधित विभागों से इंडेंट मांगा गया है। ताकि संबंधित नर्सरियों से उन्हें पौधे उपलब्ध करा दिए जाएं।

एक नजर इधर भी

इस वर्ष कुल 36.36 लाख पौधे रोपे जाएंगे। गत वर्ष 45.45 लाख पौधे रोपे गए थे। इस वर्ष वन विभाग का लक्ष्य-15.35 लाख पौधरोपण का है। अन्य विभाग का लक्ष्य 21.01 लाख पौधरोपण रखा गया है। जिले में कुल 1352 ग्राम पंचायतें हैं। इन ग्राम सभाओं में 2.70 लाख मजदूर लगेंगे। वन विभाग की तरफ से 192 साइट चिन्हित 192 किए गए हैं। पिछले वर्ष सभी विभागों की तरफ से 600 साइटों पर पौधारोपण हुआ था।

एक दिन में पौधरोपण का काम करने से जिम्‍मेदारी बढ़ी

डीएफओ अविनाश कुमार का कहना है कि एक दिन में पौधारोपण होने से जिम्मेदारी थोड़ी बढ़ी है, पर उसे पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है। हर कार्यस्थल पर फिजिकल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह पालन होगा। सैनिटाइजर की व्यवस्था रहेगी, लोग मास्क लगाकर पौधारोपण करेंगे। 

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस