गोरखपुर/महराजगंज, जेएनएन। पड़ोसी राष्ट्र नेपाल में बरिश से कई मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं। गुरुवार की देर रात बुटवल-पोखरा मार्ग पर पाल्पा, सिद्धबाबा व केराबारी के पास भूस्खलन होने से मार्ग अवरुद्ध हो गया। प्रशासन ने घंटों मशक्कत कर जेसीबी से मलबा हटवाया। बावजूद इसके रास्ता वन वे ही खुल पाया है। इसी तरह मुग्लिंग के पास रास्ते पर पहाड़ गिरने से नरायनघाट-काठमांडू मार्ग भी कई स्थानों पर अवरुद्ध हो गया है। कई पर्यटक व यात्री वाहन फंसे हुए हैं। घंटों मशक्कत के बाद वाहनों को एक-एक कर निकाला जा रहा है।


जहां-तहां थम गए वाहनों के पहिए

काठमांडू व  पोखरा मार्ग अवरुद्ध होने की सूचना पर पर्यटक वाहनों के पहिए जहां-तहां थम गए हैं । सोनौली सीमा पर भी बड़ी संख्या में पर्यटक रुके हुए हैं। उनके द्वारा लगातार नेपाल की लोकेशन लेकर वहां की स्थिति का जायजा लिया जा रहा है। जिन घरों के लोग नेपाल घूमने के लिए गए हैं, उनके परिजन भी चिंतित हैं। आवागमन कब सुचारू रूप से शुरू होगा, यह कहा नहीं जा सकता है । बारिश के चलते फिसलन होने से भी दुर्घटना की आशंका भी बनी हुई है।


उफनाईं नेपाल की नदियां

नेपाल के पहाड़ों में हो रही मूसलधार बारिश से तराई की तरफ आने वाली नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। मेची, निंदा, विरिंग, मावारतुआ, नुनखोला, लोहन्द्र, बुढ़ीखोला, खेसिलिया, सुनसरी खोला, त्रियुगा, खुट्टी, चुरियाखोला, खाडो, महूली, रातो, हर्दी व लाल बकैया आदि नेपाल की प्रमुख नदियों  का पानी खतरे के निशान को छूने लगा है।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस