गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर और गोरखपुर के आसपास के जिलों की 24 january 2020 शुक्रवार की प्रमुख खबराें में कोहरे का कहर : 29 फरवरी तक निरस्त रहेंगी पूर्वोत्तर रेलवे की 30 ट्रेनें, यहां देखें निरस्‍त ट्रेनों की लिस्‍ट खबर चर्चा में रही। इसके अलावा महंगा हुआ घर बनाना, GDA ने मानचित्र शुल्‍क 20 फीसद बढ़ाया, रेल लाइनों पर हाथियों को बचाएगा मधुमक्खी ध्वनि तकनीक यंत्र, भारत-नेपाल सीमा पर अलर्ट, एडीजी ने जारी किया आदेश, गोरखपुर में रेलवे के मरीज बेहाल, 'वेंटीलेटर' पर अस्पताल, बचिए- कहीं मुसीबत न बन जाए आपका गैस गीजर, बढ़ रही बेहोशी व झटके की शिकायतें, बढ़ेगी CM सिटी गोरखपुर की चौहद्दी, GDA से जुड़ेंगे 159 और गांव और चेक के नाम पर बिजली निगम को 'झटका' दे रहे उपभोक्ता खबर चर्चा में रही।

कोहरे का कहर : 29 फरवरी तक निरस्त रहेंगी पूर्वोत्तर रेलवे की 30 ट्रेनें, यहां देखें निरस्‍त ट्रेनों की लिस्‍ट

गोरखपुर। कोहरे को लेकर पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने पूर्व में निरस्त और आंशिक निरस्त ट्रेनों का निरस्तीकरण 29 फरवरी तक बढ़ा दिया है। इन ट्रेनों का संचलन 16 दिसंबर से एक और तीन फरवरी तक प्रभावित था। फिलहाल, पूर्वोत्तर रेलवे की 30 ट्रेनें निरस्त कर दी गई हैं।

महंगा हुआ घर बनाना, GDA ने मानचित्र शुल्‍क 20 फीसद बढ़ाया

गोरखपुर। मकान बनवाने के लिए गोरखपुर विकास प्राधिकरण (जीडीए) से मानचित्र पास कराना पहले की तुलना में अब महंगा होगा। बुधवार की देर शाम तक प्राधिकरण के सभागार में मंडलायुक्त एवं जीडीए अध्यक्ष जयंत नार्लिकर की अध्यक्षता में आयोजित बोर्ड की बैठक में विकास शुल्क प्रति वर्ग मीटर 20 फीसद बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। इसके साथ ही लोगों को राहत देने वाले कई निर्णय भी बैठक में हुए। एयरफोर्स स्टेशन क्षेत्र में नो कंस्ट्रक्शन जोन का दायरा 900 मीटर से घटाकर 100 मीटर करने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। यह मामला शासन को भेजा जाएगा, वहां से अनुमति मिलने के बाद मानचित्र पास होना शुरू हो जाएगा।

रेल लाइनों पर हाथियों को बचाएगा मधुमक्खी ध्वनि तकनीक यंत्र

गोरखपुर। वन्य जीव क्षेत्रों में स्थित रेल लाइनों पर अब हाथी दुर्घटना के शिकार नहीं होंगे। रेल लाइन के आसपास विचरण करने वाली व झुंड के साथ लाइन पार करने वाली हाथियों को रेलवे की नई मधुमक्खी ध्वनि तकनीक यंत्र बचाएगा। जल्द ही इस यंत्र को भारतीय रेलवे के वन्य जीव क्षेत्रों में स्थित रेल लाइनों पर स्थापित किया जाएगा।

भारत-नेपाल सीमा पर अलर्ट, एडीजी ने जारी किया आदेश

गोरखपुर। गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा को लेकर एडीजी दावा शेरपा ने जोन में अलर्ट जारी किया है। इस बाबत सभी पुलिस अधीक्षकों को गुरुवार को पत्र लिखकर उन्होंने होटलों, ढाबों और सार्वजनिक स्थानों पर चेकिंग अभियान चलाने तथा भारत-नेपाल की खुली सीमा पर चौकसी बढ़ाने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही दोनों देशों को जोडऩे वाली पगडंडियों पर विशेष नजर रखने की हिदायत भी दी है।

गोरखपुर में रेलवे के मरीज बेहाल, 'वेंटीलेटर' पर अस्पताल

गोरखपुर। इलाज की आस में रेलवे अस्पताल पहुंचने वाले गंभीर मरीजों को निराश होकर लौटना पड़ रहा है। इमरजेंसी तो दूर आइसीयू में भी जीवन रक्षक मशीनों का इंतजाम नहीं है। डायलिसिस के लिए मरीजों को लंबा इंतजार करना पड़ता है, तो वेंटीलेटर की जरूरत पडऩे पर रेफर के अलावा कोई विकल्प नहीं है। सामान्य को छोड़ दें तो गंभीर मर्ज की दवाओं के लिए मरीजों को बाहर का ही रास्ता देखना पड़ रहा है।

बचिए- कहीं मुसीबत न बन जाए आपका गैस गीजर, बढ़ रही बेहोशी व झटके की शिकायतें

गोरखपुर। पिछले दिनों नहाने गईं 32 वर्षीय महिला बेहोशी की हालत में बाथरूम में मिलीं। मुंह से झाग आ रहा था। परिजन उन्हें विशेषज्ञ चिकित्सक के पास ले गए। पूछने पर बताया कि महिला को पहले मिर्गी आदि की कोई शिकायत नहीं थी। बीमारी का पता लगाने के लिए एमआरआइ, ईईजी और रक्त की जरूरी जांचें कराई गईं, लेकिन कोई नतीजा सामने नहीं आया। परेशान चिकित्सक ने परिजनों से दोबारा पूछताछ शुरू की। बातचीत में पता चला कि बाथरूम में नहाते हुए वह पहले भी एक बार बेहोश हुईं थीं। पूछताछ के सिलसिले में यह बात भी सामने आई कि उन्होंने हाल ही में बाथरूम में गैस गीजर लगवाया है।

बढ़ेगी CM सिटी गोरखपुर की चौहद्दी, GDA से जुड़ेंगे 159 और गांव

गोरखपुर। जिले के विभिन्न ब्लॉकों के 159 और गांव जल्द ही गोरखपुर विकास प्राधिकरण (जीडीए) में शामिल हो जाएंगे। बुधवार को जीडीए बोर्ड की बैठक में प्राधिकरण के सीमा विस्तार के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है। इसे अब शासन के पास भेजा जाएगा। कैबिनेट से हरी झंडी मिलने के बाद गांवों को शामिल करने का नोटिफिकेशन जारी हो जाएगा। इसके साथ ही जीडीए के दायरे में आने वाले कुल गांवों की संख्या 329 हो जाएगी।

चेक के नाम पर बिजली निगम को 'झटका' दे रहे उपभोक्ता

गोरखपुर। लंबे समय से बिल बकाया होने पर कनेक्शन कटने से बचाने के लिए बिजली उपभोक्ता हर हथकंडा अपना रहे हैं। हाल के दिनों में बिजली निगम को चेक के नाम पर 'झटका' देने का मामला प्रकाश में आया है। शहर के करीब 400 उपभोक्ताओं ने दरवाजे पर पहुंची जांच टीम को चेक देकर कनेक्शन कटने से बचा लिया। लेकिन, जब निगम ने इन चेकों को भुनाना चाहा तो वे बाउंस हो गए। इस धोखे को गंभीरता से लेते हुए अधिकारियों ने ऐसे लोगों पर विधिक कार्रवाई का मन बनाया है। इन पर डेढ़ करोड़ रुपये से अधिक बकाया है।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस