गोरखपुर, जेएनएन। यहां पढ़ेंं, गोरखपुर और आसपास के जिलों की रविवार 20 September 2020 की प्रमुख खबरें-  

फ्रांसीसी परिवार फ‍िर महरजगंज पहुंचा, लॉकडाउन में पांच माह तक गांव के मंदिर में ठहरा था परिवार

महराजगंज। महराजगंज के लक्ष्मीपुर क्षेत्र के कोल्हुआ उर्फ सिंहोरवा शिव मंदिर परिसर से भ्रमण पर निकला फ्रांसीसी परिवार 25 दिन बाद फिर शनिवार की शाम मंदिर परिसर में वापस लौट आया है। इस दौरान फ्रांसीसी परिवार के सदस्यों को देखकर ग्रामीणों के चेहरे खिल उठे। महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों ने परिवार के सभी सदस्यों का स्वागत कर उनका कुशलक्षेम पूछा और जलपान कराया।भ्रमण पर निकले फ्रांस के टूलोज शहर निवासी पैट्रीस पैलारे अपने परिवार के साथ बीते 22 मार्च को सोनौली पहुंचे थे, लेकिन कोरोना महामारी के कारण घोषित लाॅकडाउन की वजह से नेपाल में नहीं जा सके। इसलिए वह पत्नी वर्जिनी, बेटी ओफली, लोला व बेटा टाॅम के साथ कोल्हुआ शिव मंदिर परिसर में ठहर गए। पांच माह के बाद परिवार के सदस्यों ने जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर उत्तराखंड पर्यटन के लिए अनुमति मांगी थी।

नेपाल के काम नहीं आई चीन की मदद, दो सौ रुपये प्रतिकिलो पार पहुंची प्‍याज की कीमत

महराजगंज। आर्थिक मोर्चे पर बुरी तरह से घिरे नेपाल में प्याज की किल्लत बढ़ गई है। 14 सितंबर से प्याज के निर्यात पर भारत के प्रतिबंध लगाए जाने से वहां कालाबाजारी शुरू हो गई है। जमाखोरी बढ़ने से पड़ोसी देश में प्याज 150 से 200 रुपये प्रति किलो बिक रही है। मूल्य को नियंत्रित करने के लिए नेपाल सरकार द्वारा उठाए गए कदम भी नाकाफी साबित हो रहे हैं। हालांकि भारत के प्रतिबंध के बाद चीन ने प्याज का निर्यात बढ़ा दिया है। 

गोरखपुर विश्वविद्यालय में 20 नए कोर्स शुरू होंगे, सीबीसीएस प्रणाली से चलेंगे सभी कोर्स

गोरखपुर। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में 20 नए कोर्स शुरू करने की कवायद तेज हो गई है। इनमें अधिकतर कोर्स स्नातकोत्तर कक्षाओं के लिए हैं। इसमें डिग्री और डिप्लोमा कोर्स भी शामिल है। ये कोर्स च्वाइस बेस्ड क्रेडिट प्रणाली (सीबीसीएस) के नियमों के तहत चलाए जाएंगे। कुलपति ने कहा है कि नए कोर्स शुरू होने से छात्रों को अधिक विकल्प मिल सकेगा।

भारत के सहयोग से नेपाल में छह वर्ष बाद फिर से शुरू होगी रेल सेवा

सिद्धार्थनगर। नेपाल के जनकपुर के जयनगर से धनुषा-कुर्था तक चलने वाली बंद रेल सेवा छह वर्ष बाद फिर से शुरू होने जा रही है। जिसको लेकर नेपाल सरकार ने तैयारी पूरी कर ली है। रेल सेवा शुरू करने के लिए नेपाल सरकार ने भारत सरकार से नेपाली राष्टध्वज अंकित रेल की खरीदारी की है। जो शुक्रवार की रात जनकपुर पहुंच गई। भारतीय सरकारी कंपनी कोकण से नेपाल सरकार ने ट्रेन डिब्‍बों और इंजन की खरीदारी की है। नेपाल सरकार की मंशा है कि दशहरे के मौके पर जनकपुर के जयनगर से धनुषा-कुर्था तक चलने वाली रेल लाइन की शुरूआत की जाएगी। 35 किमी लंबी रेल लाइन पर ट्रेन दौड़ाने के लिए रेल लाइन तैयार की जा चुकी है। 35 किमी लंबे रूट पर जयनगर, कुर्था, बैजलपुरा सहित चार रेलवे स्टेशन बनाए जाएंगे।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस