गोरखपुर, जागरण संवाददाता। Gorakhpur DM Vijay Kiran Anand गोरखपुर के सभी ब्लाकों में कार्यप्रणाली की जांच करने के बाद डीएम विजय किरन आनंद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों (सीएचसी), प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (पीएचसी) एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी (सीडीपीओ) कार्यालयों का निरीक्षण करेंगे। 20 अक्टूबर को स्वास्थ्य केंद्रों जबकि 28 अक्टूबर को सीडीपीओ कार्यालयों का निरीक्षण किया जाएगा। सभी केंद्रों के प्रभारियों को व्यवस्था में सुधार करने का निर्देश दिया गया है। जिलाधिकारी के अलावा सीडीओ इंद्रजीत सिंह, एडीएम एवं विभिन्न तहसीलों के एसडीएम भी जांच करेंगे।

सीएचसी, पीएचसी की हकीकत देखेंगे डीएम, सभी स्वास्थ्य केंद्रों का किया जाएगा निरीक्षण

पूर्व में बैठक कर जिलाधिकारी ने आम लोगों की सुविधा के लिए ब्लाक स्तरीय कार्यालयों में सुधार का निर्देश दिया था। जिलाधिकारी का कहना है कि ब्लाकों से ही सभी योजनाओं के क्रियान्वयन की निगरानी होती है, ऐसे में वहां की कार्यशैली व्यवस्थित होनी चाहिए। 25 बिन्दुओं पर सभी केंद्र प्रभारियों को सुधार करने का निर्देश दिया गया है। सीडीपीओ कार्यालय पर अगस्त से अब तक की गई आंगनबाड़ी केंद्राें की जांच एवं कार्यवाही, सुपरवाइजर एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की बैठक, स्वास्थ्य जागरूकता शिविरों के आयोजन एवं प्रतिभाग, विलेज हेल्थ न्यूट्रिशन डे पर टीकाकरण की गतिविधियां एवं कार्यवाही, आंगनबाड़ी केंद्र पर पोषाहार की उपलब्धता आदि के बारे में जांच की जाएगी।

इन केंद्रों की जांच करेंगे जिलाधिकारी

जिलाधिकारी विजय किरन आंनद 20 अक्टूबर सुबह 10 से दोपहर बाद 1.30 बजे तक सीएचसी सहजनवां, चौरी चौरा, पीएचसी सरदारनगर एवं खोराबार का निरीक्षण करेंगे। 28 अक्टूबर को कौड़ीराम, खजनी व बांसगांव के सीडीपीओ कार्यालय का निरीक्षण करेंगे। सीडीओ इंद्रजीत सिंह 20 अक्टूबर को सीएचसी बांसगांव, पीएचसी पिपरौली एवं कौड़ीराम का निरीक्षण करेंगे। 28 अक्टूबर को पाली, सहजनवा व पिपरौली में सीडीपीओ कार्यालय का निरीक्षण करेंगे।

ब्लाक स्तरीय कार्यालयों की कार्यशैली को व्यवस्थित करना जरूरी है। समय-समय पर बैठक कर इस संबंध में निर्देश दिए गए हैं। हाल ही ब्लाकों की जांच की गई है। उसी तर्ज पर सीएचसी, पीएचसी एवं सीडीपीओ कार्यालयों की जांच की जाएगी। सभी केंद्रों पर व्यवस्था दुरुस्त करने का निर्देश दिया गया है। - विजय किरन आनंद, जिलाधिकारी।

Edited By: Pradeep Srivastava