गोरखपुर, जागरण संवाददाता। जिले में छह लाख से अधिक लाेग अभी कोविड टीकाकरण से वंचित हैं। बूथों पर बड़ी संख्या में लोग आ नहीं रहे हैं। ऐसे में वंचित लोगों को खोजकर टीका लगाने का अभियान स्वास्थ्य विभाग ने शुरू किया है। कोरोना को हराने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने भिखारियों को टीका लगाने का अभियान शुरू करने का फैसला किया है। 11 अक्‍टूबर से भिखारियों को खोजकर टीका लगाया जाएगा। इसकी शुरुआत रेलवे स्टेशन से की जाएगी।

टीकाकरण से वंचित लोगों को तलाश रहा है स्‍वास्‍थ्‍य विभाग

टीकाकरण से वंचित लोगों की तलाश स्वास्थ्य विभाग कर रहा है। विभाग का मानना है कि इसमें बीमार, बुजुर्ग, असहाय व भिखारी हो सकते हैं, जो बूथों पर नहीं पहुंच रहे हैं। भिखारियों को टीका लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम शहर के कुछ चिह्नित स्थानों पर जाएगी और कैंप लगाकर वहां टीकाकरण किया जाएगा।

टीकाकरण से एक भी व्‍यक्ति के वंचित रहने पर सिर उठा सकता है कोरोना

क्योंकि एक व्यक्ति भी टीका से वंचित हुआ तो कोरोना को ताकत मिल सकती है। इसलिए सौ फीसद लोगों को टीका लगाने के लिए विभाग ने नये सिरे से अभियान शुरू किया है। पहले दिन रेलवे स्टेशन पर रहने वाले भिखारियों को टीका लगाया जाएगा। इसके बाद गोलघर काली मंदिर सहित सभी मंदिरों के सामने टीम जाएगी और ऐसे लोगों की तलाश कर उन्हें टीका लगाया जाएगा।

बीमार व बुजुर्गों के लिए रवाना होगी वैन

स्वास्थ्य विभाग गांवों में रह रहे बीमार व बुजुर्गों के लिए मोबाइल वैन गांवों में भेजेगा। 11 अक्‍टूबर काे सुबह 11 बजे जिलाधिकारी को वैन को रवाना करना था लेकिन उनकी अनुपस्थित में एडीएम सिटी ने वैन को रवाना किया। कर दिया। अभी एक ही वैन जिले में आई है। वैन में वैक्सीन के साथ ही डाक्टर, वैक्सीनेटर, वेरीफायर सहित इमरजेंसी दवाएं उपलब्ध रहेंगी। वैक्सीन स्वास्थ्य विभाग देगा। स्टाफ व वैन केयर इंडिया की होगी।

हर वचित को लगेगा टीका

सीएमओ डा. सुधाकर पांडेय बताते हैं कि प्रत्येक छूटे हुए लोगों के टीकाकरण के लिए अभियान शुरू किया गया है। हर वंचित को टीका लगाने का लक्ष्य है। पहले दिन रेलवे स्टेशन पर भिखारियों के लिए कैंप लगाया जाएगा। साथ ही एक मोबाइल वैन गांवों में भेजी जा रही है। जो बीमार, बुजुर्गों व असहायों को टीका लगाएगी।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi