गोरखपुर, जेएनएन। दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। विसर्जन मार्ग पर जहां सीसी टीवी और ड्रोन कैमरों से नजर रखी जाएगी वहीं बड़ी संख्या में पुलिस भी तैनात रहेगी। विसर्जन जुलूस में शामिल लोगों की हर गतिविधियों पर नजर रखने और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पीएसी व आरएएफ के जवान भी तैनात रहेंगे। वैसे तो एसपी नार्थ अरविंद कुमार पांडेय को सुरक्षा व्यवस्था का नोडल अधिकारी बनाया गया है, लेकिन खुद एसएसपी भी विसर्जन के दौरान भ्रमणशील रहकर पूरी व्यवस्था पर नजर रखेंगे।

350 से अधिक पुलिसकर्मी रहेंगे तैनात

दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के दिन सुबह आठ बजे से ही पुलिस अपनी ड्यूटी पर मुस्तैद हो जाएगी। विसर्जन जुलूस में शामिल लोगों तथा आसपास की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सीसी टीवी कैमरे लगाए जाएंगे। इसके लिए 15 स्थान चिह्नित किए गए हैं। इसके अलावा तीन ड्रोन कैमरों की मदद से भी विसर्जन जुलूस पर नजर रखी जाएगी। सुरक्षा व्यवस्था में 350 से अधिक पुलिसकर्मियों के साथ ही 100 प्रशिक्षु सिपाहियों को भी तैनात किया जाएगा। स्थिति को सामान्य बनाए रखने के लिए पुलिस वाले विसर्जन मार्ग पर जगह-जगह मुस्तैद रहेंगे। सुरक्षा व्यवस्था में एक कंपनी पीएसी और एक कंपनी आरएएफ भी तैनात रहेगी।

हर थाना क्षेत्र में चार से पांच पूजा पंडालों पर एक उप निरीक्षक तैनात

हर थाना क्षेत्र में चार से पांच पूजा पंडालों पर एक उप निरीक्षक को सुरक्षा के लिहाज से नोडल अधिकारी बनाया गया है। पूजा समिति के लोग विसर्जन के लिए प्रतिमा ले जाने के दौरान हर समय नोडल अधिकारी के संपर्क में रहेंगे और उनके निर्देशों का पालन करेंगे। इसके लिए पुलिस ने पहले ही पूजा समिति के लोगों ने बचन पत्र पर हस्ताक्षर करा लिया है। एसएसपी ने लोगों से शांति और सौहार्दपूर्ण वातावारण में प्रतिमा विसर्जन करने की अपील की है। साथ ही गड़बड़ी करने या किसी तरह की अफवाह फैलाने की कोशिश करने वालों को उन्होंने कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। 

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस